logo
  • Fri Dec 31 2021
  • 5:23:59 PM
अचानक घर से लापता हुआ था 22 वर्षीय गुरदेव शव करनाल के कुराली गांव के पास से बरामद हुआ
THRR
रवि गुमथला में नाई का कार्य करता है जबकि दिशान मजदूरी कर गुजारा कर रहा है।

अचानक घर से लापता हुआ था 22 वर्षीय गुरदेव शव करनाल के कुराली गांव के पास से बरामद हुआ 


रादौर:(ATAL HIND )


गांव गुमथला में घर से लापता हुए जिस युवक का शव करनाल के कुराली गांव के पास से पश्चिमी यमुनानहर से बरामद हुआ था उस मामले में पुलिस ने नया खुलासा किया गया है। जांच में पता चला है कि युवक अपने दोस्तों के साथ चोरी के इरादे से गांव कलरी में गया था। जहां उन्हें ट्रांस्फार्मर से चोरी करनी थी लेकिन इस दौरान वह करंट की चपेट में आ गया और उसकी मौत हो गई। साथ में मौजूद उसके साथियों ने उसकी मौत की वजह छुपाने के लिए उसे पश्चिमी यमुनानहर में फेंक दिया। लेकिन परिजनों के उसके दोस्तों पर शक जताने के बाद पुलिस पुछताछ़ में पूरे मामले का खुलासा हुआ। अब पुलिस ने मृतक गुरदेव के दोस्त गुमथला निवासी दिशान व मुसीपुर करनाल निवासी रवि को गिरफ्तार किया है। दोनों पर धारा 304, 201 व 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। रवि गुमथला में नाई का कार्य करता है जबकि दिशान मजदूरी कर गुजारा कर रहा है।
बॉक्स
अचानक घर से लापता हुआ था 22 वर्षीय गुरदेव
गांव गुमथला निवासी 22 वर्षीय गुरदेव 27 दिसंबर के दिन घर से निकला ािा। लेकिन वापिस नहीं लौटा। परिजनों ने छानबीन की लेकिन उसका कहीं कोई सुराग नहीं लग सका। तब इसकी शिकायत जठलनाा पुलिस को दी गई थी। जिसके आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी, इसी दौरान परिजनों को एक युवक का शव 31 दिसंबर की शाम रंबा एरिया के गांव कुराली गांव के पास पश्चिमी यमुनानहर में तैरता दिखाई दिया। परिजनों ने उसे बाहर निकाला तो उसकी पहचान गुरदेव सिंह के रूप में हुई। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया था। लेकिन परिजनों ने शक जताया था कि गुरदेव की हत्या की गई है और उसमें दिशान व रवि शामिल है। इसी आधार पर पुलिस ने जांच शुरू की तो पूरे मामले का खुलासा हुआ।
बॉक्स
ऐसे खुला राज
थाना प्रभारी प्रभारी पूर्ण सिंह ने बताया कि परिजनों के शक के आधार पर उन्होंने जांच शुरू की। उसके दोस्तो व गुरदेव के मोबाईल नंबर की कॉल डिटेल व लोकेशन निकाली गई। तब उन्होंने गुरदेव के दोस्त दिशान व रवि को पूछताछ में शामिल किया। जिसमें उन्होंने बताया कि वह गुरदेव को चोरी करने के लिए अपने साथ इंद्री के गांव ले गए थे। वहां एक किसान के खेत में खड़े ट्रांसफार्मर की लाइन काटकर उन्होंने चोरी के इरादे से गुरदेव को ट्रांसफार्मर पर चढ़ा दिया। वह सब नशे की हालत में थे। नशा अधिक होने के कारण उन्होंने अचानक ट्रांसफार्मर की लाइन चालू कर दी। लेकिन तब तक गुरदेव नीचे नहीं उतर पाया था। जिस कारण करंट लगने से वह नीचे गिर गया। वह घबरा गए और उसे बाइक पर ईलाज के लिए लाड़वा के सरकारी अस्पताल में लेकर गए। लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। तब उन्होंने बहाना बनाया कि वह गुरदेव को किसी अन्य अस्पताल में दिखाना चाहते है। यह कहकर वह डॉक्टरों की नजरों से बचते हुए उसे वहां से लेकर फरार हो गए। मामले को दबाने व इसे आत्महत्या दिखाने के इरादे से उन्होंने गुरदेव के शव को गांव कुराली के पास नहर में फेंक दिया।

 

Share this story