कैथल जिले के कई गांवों में सफाई के नाम पर करोड़ों का फर्जीवाड़ा-लीला राम 
कैथल जिले के कई गांवों में सफाई के नाम पर करोड़ों का फर्जीवाड़ा-लीला राम 

कैथल जिले के कई गांवों में सफाई के नाम पर करोड़ों का फर्जीवाड़ा-लीला राम

कैथल(अटल हिन्द ब्यूरो )

कैथल के विधायक लीला राम को अब कैसे नजर आया की गांवों में सफाई के नाम पर करोड़ों का फर्जीवाड़ा  हो रहा है यह तो बीजेपी विधायक लीला राम ही बेहतर जानते है। विधायक लीला राम ने मुख्यमंत्री मनोहर को भेजी शिकायत में कहा की  कई गांवों में सफाई के नाम पर करोड़ों रुपये के बिल पास किए गए जबकि इस बारे न तो सरपंचों को पता है तथा न ही विधायक को। इसलिए उन्होंने  जांच की मांग की है। जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि सीएम मनोहर लाल ने इस मामले की जांच विजिलेंस को सौंप दी है।

कैथल जिले के कई गांवों में सफाई के नाम पर करोड़ों का फर्जीवाड़ा-लीला राम 

विधायक  लीला राम ने कहा कि कई गांवों से सफाई के नाम पर घोटाले की बात सामने आ रही थी। जब विधायक लीला राम ने अपने स्तर पर  जानकारी जुटाई तो गांव गुहणा, मानस, सिरटा, पाड़ला, जसवंती, डेरा गदला, खुराना, बलवंती सहित कुल 14 ऐसे गांव पता चले, जहां से ढाई करोड़ रुपए नालियों व खालों की सफाई के नाम पर खर्च हुए बताए गए हैं।

लेकिन इस बारे में सब अनजान यहाँ तक की कई गांवों के सरपंचों को, एसडीएम को, डी.सी. को और स्वयं उन्हें भी इस बात की जानकारी तक नहीं है। जबकि जनप्रतिनिधि होने के नाते विकास संबंधी इन कार्यों की उन्हें जानकारी होनी चाहिए। बाद में राजनेताओं पर आरोप लगाए जाते हैं इसलिए उन्होंने इस मामले की जानकारी होते ही सीएम से मिलकर जांच की मांग की है।

विधायक लीला राम ने कहा कि यदि कोई कार्रवाई नहीं हुई तो वे फिर से सीएम से मिलकर जांच की मांग करेंगे। एमएलए लीला राम ने कहा कि इसके अलावा उन्हें पता चला है कि जिला अस्पताल में ठेके पर लगाए जाने वाले कर्मचारियों से 30 हजार से लेकर 75 हजार रुपये तक की रिश्वत राशि वसूली जा रही है।

कर्मचारियों को नौकरी लगवाने से पहले ही सौदा किया जा रहा है। उन्होंने सीएमओ व डीसी के संज्ञान में भी यह मामला ला दिया है। महामारी के इस दौर में लोगों की सेवा करने का समय है। कुछ लोग सरकार को बदनाम करते हुए ऐसे कार्य कर रहे हैं। लेकिन उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। इस अवसर पर पूर्व विधायक फूल सिंह खेड़ी, भाजपा नेता हरपाल शर्मा क्योडक, पी.ए. रामकुमार नैन आदि उपस्थित थे।

Share this story