परिवार पहचान पत्र के इनकम व जाति वैरिफिकेशन कार्य में लाएं तेजी,  लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त  :  प्रदीप दहिया
परिवार पहचान पत्र के इनकम व जाति वैरिफिकेशन कार्य में लाएं तेजी,  लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त  :  प्रदीप दहिया
परिवार पहचान पत्र के इनकम व जाति वैरिफिकेशन कार्य में लाएं तेजी,  लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त  :  प्रदीप दहिया
कैथल, 23 जून (atal hind   ) उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कहा कि जिला में बने हुए परिवार पहचान पत्र के इनकम वैरिफिकेशन का कार्य चल रहा है। जिला के सभी बूथों पर टीम लीडर, वॉलिंटियर्स, सामाजिक कार्यकताओं की डयूटियां लगाई गई है, जो आय प्रमाण की जांच कर रही है। जिला में 1& हजार 577 परिवारों में से 10 हजार 887 परिवारों इनकम वैरिफिकेशन कार्य पूरा किया जा चुका है, जिसका प्रतिशत 79.82 प्रतिशत है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों से आह्वान  किया कि वे इस कार्य को जल्द पूरा करें, ताकि लाभाॢथयों का लाभ प्रदान किया जा सके।
परिवार पहचान पत्र के इनकम व जाति वैरिफिकेशन कार्य में लाएं तेजी,  लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त  :  प्रदीप दहिया
उपायुक्त प्रदीप दहिया ने जारी ब्यान में कहा कि जिन व्यक्तियों ने परिवार पहचान पत्र में जाति का ब्यौरा दिया है भविष्य में उन्हें जाति प्रमाण-पत्र के लिए अलग आवेदन करने की जरूरत नही होगी, बल्कि ऑनलाईन जाति प्रमाण-पत्र ले सकेंगे। जिला में परिवार पहचान पत्र के कास्ट वैरिफिकेशन का कार्य भी चल रहा है, जिसके तहत 1 लाख &4 हजार 462 परिवारों में से &1 हजार 20& परिवारों को वैरीफाई किया गया है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को निर्देश दिए हैं कि इस कार्य में तेजी लाकर कार्य पूरा करें। किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नही होगी। जिला में 24 हजार 519 परिवार ऐसे हैं, जिन्होंने अपना परिवार पहचान पत्र अपडेट नही करवाया है, जिससे उनका परिवार पहचान पत्र अधूरा है। इन सभी परिवारों का आह्वान  किया जाता है ये सभी परिवार अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सैंटर में पहुंचकर अपना परिवार पहचान पत्र अपडेट करवाएं। परिवार पहचान पत्र के आधार पर ही सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाएगा।
जिला में कुल 2 लाख 91 हजार &89 परिवार में से 2 लाख 66 हजार 870 अपडेट हो चुके हैं, जिसका प्रतिशत 91.59 प्रतिशत है। बाकि रहे 24 हजार 519 परिवार जल्दी से अपना कॉमन सर्विस सैंटर में जाकर परिवार पहचान पत्र अपडेट करवाएं। सभी संबंधित अधिकारी व कर्मचारी भी लोगों को जागरूक करें। शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में परिवार पहचान पत्र बनाने व अपडेशन का कार्य सीएससी यानि कॉमन सर्विस सैंटर के माध्यम से किया जा रहा है। आमजन सीएसएसी में जाकर फ्री में परिवार पहचान पत्र बनवा सकते हैं।
उन्होंने बताया कि परिवार पहचान पत्र सरकार की बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है। भविष्य में हरियाणा सरकार द्वारा परिवार पहचान पत्र के माध्यम से ही बीपीएल कार्ड, आयुष्मान भारत, वृद्घावस्था पेंशन, मुख्यमंत्री परिवार समृद्घि योजना आदि जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिलेंगे। परिवार पहचान पत्र बनवाने के लिए पूरे परिवार को कॉमन सर्विस सैंटर में जाने की आवश्यकता नही है, बल्कि परिवार का मुखिया अन्य सदस्यों के दस्तावेज लेकर पीपीपी अपडेशन करवा सकता है। परिवार के सभी सदस्यों के आधार कार्ड 18 वर्ष से ऊपर आयु वाले सदस्यों के वोटर कार्ड, जिन सदस्यों के पास जन्म प्रमाण-पत्र हैं, वह लेकर जाएं या इसके स्थान पर विद्यालय का कोई प्रमाण-पत्र, परिवार के मुखिया का बैंक खाते की कॉपी, बीपीएल कार्ड धारक अपना राशन कार्ड लेकर के जाएं। इसके साथ-साथ जिन फोन पर फैमिली आईडी का मैसेज आया है, वह फोन भी साथ लेकर जाएं। फैमिली आईडी में उसी मोबाईल नंबर को अपडेट करवाएं, जो नंबर स्थाई है, ताकि भविष्य में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नही करना पड़े।

Share this story