पिलनी गाँव में जनता का लाखों बर्बाद ,कैथल प्रशासन  ने वाहवाही लूटी ,ग्राउंड रिपोर्ट ढाक के तीन पात
पिलनी गाँव में जनता का लाखों बर्बाद ,कैथल प्रशासन  ने वाहवाही लूटी ,ग्राउंड रिपोर्ट ढाक के तीन पात
टोटियां गायब है, दरवाजे टूटे पड़े है। अंदर गंदगी से अटे पड़े है और चारो तरफ जंगली घास कई- कई फूट खड़ा है। इसमें महिलायें तो दूर की बात मनुष्य भी जाने से कतराते है।
कैथल, 20 अगस्त(अटल हिन्द ब्यूरो )
पिलनी गाँव में जनता का लाखों बर्बाद ,कैथल प्रशासन  ने वाहवाही लूटी ,ग्राउंड रिपोर्ट ढाक के तीन पात
प्रदेश सरकार के द्वारा प्रदेश को खुले में शौच मुक्त करने की घोषणा करके वाहवाही तो लूटी  गई, परन्तु जमीनी स्तर पर इसकी रिपोर्ट निकल कर जीरो आ रही है। सरकार की यह घोषणा मात्र कागजी घोषणा बन कर रह गई है। निकटवर्ती गांव पिलनी में गांव में कुछ वर्ष पूर्व लाखों रुपये की लागत से दोनों ओर पांच- पांच कुल दस सुलभ शौचालय बनाये गये। इन सुलभ शौचालयों में उस समय सारी सुविधायें उपलब्ध करवाई गई थी, परन्तु ये सुविधायें मात्र लगभग एक माह तक ही चल पाई।
ग्रामीण रामपाल, राजकुमार, गोपाल, सुबे सिंह, पवन, प्रदीप, बिन्द्र, देवेन्द्र उर्फ काला आदि ने बताया की ये सुलभ शौचालय उसी समय से बंद पड़े हुये है। इनकी टोटियां गायब है, दरवाजे टूटे पड़े है। अंदर गंदगी से अटे पड़े है और चारो तरफ जंगली घास कई- कई फूट खड़ा है। इसमें महिलायें तो दूर की बात मनुष्य भी जाने से कतराते है। इनमें पानी का भी कोई प्रबंध नहीं है। अब ये लाखों रुपयों से बने शौचालय खंडहर बन रहे है।
पिलनी गाँव में जनता का लाखों बर्बाद ,कैथल प्रशासन  ने वाहवाही लूटी ,ग्राउंड रिपोर्ट ढाक के तीन पात
उन्होंने बताया कि यह भी हो सकता है कि कागजों में इसकी साफ- सफाई की जा रही हो और भारी राशि भी इसके रख रखाव के लिये प्रति महीना दी जा रही हो। अब शुरू से ही ग्रामीणों को खुले में शौच के लिये जाना पड़ रहा है। अधिक परेशानी महिलाओं को हो रही है। उन्होंने उपायुक्त से इनका मुआयना करने की अपील की है।
 इस बारे में पूर्व सरपंच प्रतिनिधि कुलदीप से जाना गया तो उसने बताया की गांव में केवल दो सफाई कर्मचारी थे। उनमें से एक की मौत हो गई थी। कई वर्षों से केवल एक ही सफाई कर्मचारी है। इन शौचालयों की देखरेख तथा साफ- सफाई के लिये कोई कर्मचारी सरकार ने नही रखा हुआ था, जिस कारण से ये बंद पड़े है। शरारती बच्चों ने इनके गेट तोड़ दिये है। कुछ ग्रामीणों ने अपने घरों में शौचालय बनाए हुये है तथा कुछ गरीब तबके के ग्रामीण खुले में शौच के लिये जाते है। उनका गांव शौच मुक्त नहीं है।
करवाई जायेगी सफाई- बी डी पी ओ
इस बारे में जब ग्राम सचिव रामकुमार व बी डी पी ओ सुरेंद्र कुमार ने बताया कि पिलनी में दो कर्मचारियों में से एक की मौत हो गई थी, जिस कारण से शायद सफाई न होती हो। अब जल्दी ही सफाई करवा दी जायेगी। इसके लिये अलग से कोई कर्मचारी नहीं है।

Share this story