कैथल जिले की चार विधानसभा सीटों पर 9 ट्रांसजेंडर सहित 7 लाख 89 हजार 442,जिनके वोट नहीं तुरंत बनवाये
DC
जो महिलाएं शादी करके जिला में आती हैं, उनके वोट बनवाने की तरफ भी विशेष ध्यान देने की जरूरत है।



कैथल जिले की चार विधानसभा सीटों पर 9 ट्रांसजेंडर सहित 7 लाख 89 हजार 442,जिनके  वोट नहीं तुरंत बनवाये 



--जिला के सभी चारों विधानसभा क्षेत्रों के वोट बनाने की प्रक्रिया जोरों पर :-  प्रदीप दहिया

कैथल, 25 नवम्बर (अटल हिन्द ब्यूरो /राजकुमार अग्रवाल   ) भारत निर्वाचन आयोग के रोल ऑब्जर्वर एवं करनाल मंडल आयुक्त संजीव वर्मा ने कहा कि सभी अधिकारी युवाओं को वोट बनवाने के लिए बेहतरीन तरीके से जागरूक करें। विशेषकर महिलाओं को जागरूक करने की अपेक्षाकृत अधिक जरूरत है ताकि वोट प्रतिशत में अपेक्षाकृत वृद्धि हो सके। आयुक्त संजीव वर्मा वीरवार को स्थानीय लघु सचिवालय के सभागार में वोट बनाने संबंधी कार्य की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आगामी 5 जनवरी को मतदाता सूची का फाइनल प्रकाशन किया जाना है। संबंधित तिथि को ध्यान में रखते हुए अधिक से अधिक वोट बनवाए जाएं। जो महिलाएं शादी करके जिला में आती हैं, उनके वोट बनवाने की तरफ भी विशेष ध्यान देने की जरूरत है।
  रोल ऑब्जर्वर एवं मंडल आयुक्त संजीव वर्मा ने अधिकारियों को ये निर्देश भी दिए कि वोट बनाते समय पूरी प्रक्रिया को ध्यान में रखा जाना लाजमी है। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जो भी गाईड लाईन जारी की गई है उनकी अनुपालन बहुत जरूरी है। वोट बनवाने के लिए अधिक से अधिक प्रचार करने की जरूरत है। वोट बनवाने के लिए पंचायती राज संस्थाओं के साथ-साथ समाज सेवी संस्थाओं, ऐच्छिक संगठनों, एएनएम, नंबरदार, आशा वर्कर सहित अन्य संबंधित का सहयोग लिया जाए, ताकि वोट बनवाने के प्रतिशत में बढ़ोत्तरी हो सके। उन्होंने यह भी कहा कि स्कूली बच्चों के माध्यम से जागरूकता रैली निकालकर भी लोगों को वोट बनाने के प्रति भी निरंतरता में जागरूक किया जाए।
बैठक में आयुक्त ने संबंधित अधिकारियों को ये निर्देश भी दिए कि वोट बनाने के लिए फार्म नंबर 6 भरा जाता है, इसमें किसी भी प्रकार की त्रुटि नही होनी चाहिए। फार्म पूरी सावधानी के साथ भरे जाना चाहिए और हस्ताक्षर भी चेक कर लेने चाहिए। फार्म भरने के बाद ऑनलाईन अपडेट और अपलोड करने की प्रक्रिया भी सावधानी के साथ पूरा करें, ताकि कार्य का शीघ्रता से डिजिटाईजेशन किया जा सके। उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि स्क्रूटनी का कार्य भी साथ-साथ करते रहें, ताकि काम करने की प्रक्रिया में अधिक दबाव महसूस नही हो। उन्होंने बैठक में उपस्थित राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों से अपील की कि वे संबंधित बूथों पर वोट बनवाने के दृष्टिगत बुथ लेवल एजेंट को भी कहें कि वे वोट बनवाने के लिए जाने वाली टीमों का सहयोग करें और अपने आसपास के लोगों को वोट बनवाने के लिए प्रेरित करें। जिला के चारों विधानसभा क्षेत्रों के निर्वाचन तथा सहायक निर्वाचक पंजीयन अधिकारियों को चाहिए कि वे समय-समय पर औचक निरीक्षण भी करते रहें।
बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त प्रदीप दहिया ने बताया कि जिला के सभी विधानसभा क्षेत्रों में वोट बनवाने की प्रक्रिया पूरे जोरों पर है। स्कूली बच्चों द्वारा रैलियां निकालकर भी योग्य पात्रों को वोट बनवाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। सभी संबंधित अधिकारियों को समय-समय पर बैठकें आयोजित करके निर्देश दिए जाते हैं कि वे वोट बनाने की प्रक्रिया में तेजी लाएं। उन्होंने यह भी बताया कि 1 नवंबर से वोट बनवाने की प्रक्रिया शुरू की गई थी, जोकि 30 नवंबर तक बनाई जाएगी। इसी विषय के तहत 27 व 28 नवंबर को सभी संबंधित बूथ लेवल अधिकारी अपने-अपने बूथों पर बैठकर वोट बनाने व अन्य कार्यों को करेंगे। जिला में वोट बनाने की प्रक्रिया सुचारू रूप से जारी है।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने यह भी जानकारी दी कि जिला में ड्राफ्ट सूची के अनुसार चारों विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाताओं की संख्या 7 लाख 89 हजार 442 है, जिनमें से 4 लाख 20 हजार 417 पुरूष मतदाता और 3 लाख 69 हजार 116 महिला मतदाता हैं। ट्रांसजेंडर की संख्या 9 है। महिला मतदाताओं की संख्या 1 हजार पुरूष मतदाताओं के प्रति 878 है। इसी के दृष्टिगत महिलाओं के अधिक से अधिक वोट बनाने के प्रति जोर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि निर्धारित समय अवधि के तहत अधिक से अधिक वोट बनाने की प्रक्रिया जोरों पर है।
इस मौके पर एसडीएम दिलबाग सिंह, नवीन कुमार, विरेंद्र सिंह ढुल, नगराधीश अमित कुमार, तहसीलदार सुदेश मेहरा, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, डीआईओ दीपक खुराना, चुनाव तहसीलदार सुभाष चंद, कानूनगो शमशेर सिंह, सुदेश, रमेश के अलावा अन्य संबंधित अधिकारी, राजनीतिक दलों सुरेंद्र रांझा, गुलाब सिंह, सत्यवान, शीशन आदि मौजूद रहे।

बॉक्स :- वोट बनवाने के प्रति योग्य पात्रों को जागरूक करने के लिए चलाया जा रहा है प्रचार अभियान
मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण के संबंध में मतदाताओं को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाया गया है। डीआईपीआरओ कार्यालय के साथ-साथ पात्रों को जागरूक करने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर बैनर लगाए गए हैं। स्कूल और कॉलेज में विद्यार्थियों द्वारा जागरूकता रैलियां निकलवाई जा रही है। पम्पलेट छपवाकर समाचार पत्रों में डलवा कर आमजन को सूचना भेजी जा रही है। राजनीतिक दलों की बैठकें भी समय-समय पर आयोजित की जाती है।


बॉक्स: जिला में अब तक अभियान के तहत नए वोट बनवाने के लिए फार्म नम्बर 6 के तहत 4 हजार 916 फार्म मतदाता सूची में दर्ज होने के लिए आए हैं। इसी प्रकार वोट कटवाने के लिए फार्म नम्बर -7 के तहत 517 आवेदन, नाम ठीक करवाने के लिए फार्म नम्बर-8 के अंतर्गत 1203 तथा संबंधित विधानसभा के अंतर्गत वोट स्थानांतरित करवाने फार्म नम्बर 8 (क) के 99 आवेदन आए हैं।



 

Share this story