logo
  • Fri Dec 31 2021
  • 5:23:59 PM
आत्मनिर्भर बनाना हमारा लक्ष्य-- हर जरूरतमंद परिवार को आर्थिक रूप से सशक्त और समृद्ध बनाकर :- एडीसी
kaithal
 कमजोर वर्ग कल्याण निगम कैथल द्वारा 58 लाभार्थियों का चिन्हित करके 23 व्यक्तियों को लाभ दिया जा चुका है,
 


कैथल, 13 जनवरी (atal hind  ) अतिरिक्त उपायुक्त सम्वर्तक सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार उत्थान योजना के तहत लाभान्वितों को योजना का लाभ देने में जिला कैथल हरियाणा प्रदेश में पहला जिला बन गया है। सबसे पहले प्रथम चरण में 23 लाभार्थियों को 13 लाख 50 हजार रुपये की ऋण राशि दी गई है।

मुख्यमंत्री परिवार उत्थान योजना के तहत लाभार्थियों को लाभान्वित करने के दृष्टिïगत मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सपने साकार हो रहे हैं। पिछड़ा एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कल्याण निगम कैथल द्वारा 58 लाभार्थियों का चिन्हित करके 23 व्यक्तियों को लाभ दिया जा चुका है, बाकि बचे व्यक्तियों के कागजात पूरा होते ही उनके खातों में ऋण राशि की अदायगी कर दी जाएगी। एडीसी सम्वर्तक सिंह वीरवार को स्थानीय लघु सचिवालय के सभागार में लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र प्रदान करने उपरांत बोल रहे थे।


उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत जरूरतमंद परिवार की जिंदगी में खुशी का संचार करके आत्मनिर्भर बनाना सरकार का मुख्य उद्देश्य है। हर जरूरतमंद परिवार को आर्थिक रूप से सशक्त और समृद्ध बनाकर उनके सामाजिक स्तर को अपेक्षाकृत बेहत्तर बनाना है। आत्मनिर्भर बनने की दिशा में यह कदम जरूरतमंद परिवारों के जीवन में परिवर्तन लाएगा और संबंधित सभी अपने पांव पर खड़े होंगे तथा अपने कारोबार को आगे बढ़ाने का काम करेंगे।
उन्होंने लाभार्थियों से बात करते हुए कहा कि लाभार्थियों ने जिस कार्य के लिए ऋण लिया है, पैसे को उसी कार्य में लगाएं। ऐसा करने से कारोबार में तो वृद्धि होगी ही उनकी आय में भी ईजाफा होगा। परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और परिवार का पालन पोषण सुचारू रूप से कर सकेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि लाभार्थियों की दुकानों या व्यवसायिक स्थलों पर जाकर इस बात को मद्देनजर रखते हुए निरीक्षण किया जा सकता है कि उन्होंने अपना कारोबार आगे बढ़ाने में किसी प्रकार की परेशानी तो नही और यदि किसी लाभार्थी को किसी प्रकार की तकनीकी दिक्कत आती है तो जिला प्रशासन द्वारा उसे दूर किया जाएगा।


मौके पर उपस्थित चंडीगढ़ से आए प्रशासनिक अधिकारी व जिला प्रबंधक नरेश कुमार ने विभागीय गतिविधियों की जानकारी देते हुए कहा कि विभाग द्वारा लाभार्थियों को 6 प्रतिशत सालाना के हिसाब से ऋण उपलब्ध करवाया गया है और यदि संबंधित लाभार्थी का लेनदेन सही रहता है तो अगले वर्ष से उन्हें 5 प्रतिशत सालाना की दर से डेढ़ लाख रुपये तक का ऋण दिया जाएगा। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि संबंधित लाभार्थी के लेन देन लगातार सही पाए जाने के तहत उन्हें निर्धारित नियमों के तहत 10 से 30 लाख रुपये का ऋण सस्ती दरों पर देने का प्रावधान है। इस अवसर पर डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, परियोजना अधिकारी राजेंद्र कुमार, शीशपाल, राकेश शर्मा आदि मौजूद रहे।  

बॉक्स: उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों उपायुक्त प्रदीप दहिया के मार्गदर्शन में जिला के हर खंड में मुख्यमंत्री अंत्योदय ग्राम उत्थान मेलों का आयोजन किया गया था। मेलों में लोगों ने काफी उत्साह दिखाया। इन मेलों में जरूरतमंद परिवारों का चयन किया गया और अब अलग-अलग विभाग की तरफ से उनकी रूचि व दक्षता अनुसार ऋण देना शुरू कर दिया गया है। इसी व्यवस्था के तहत आज लाभार्थियों को निगम द्वारा 13 लाख 50 हजार रुपये का ऋण उपलब्ध करवाया गया।
बॉक्स: इन लाभार्थियों को मिला योजना का लाभ
मुख्यमंत्री परिवार उत्थान योजना के तहत वीरवार को पिछड़ा वर्ग के 19, अल्पसंख्यक वर्ग के 1 तथा 3 दिव्यांग व्यक्तियों को योजना का लाभ दिया गया है। योजना का लाभ लेने वालों में गांव बुढ़ाखेड़ा की संजू देवी को कोस्टमैटिक दुकान हेतू 50 हजार रुपये, चीका निवासी अंजू मेहरा को मनियारी की दुकान हेतू 50 हजार रुपये, गांव कौलेखां निवासी अनिल को कारपेंटर हेतू 50 हजार रुपये, चीका निवासी रमेश को करियाणा दुकान हेतू 50 हजार रुपये, हंसुमाजरा निवासी बलविंद्र को बार्बर दुकान हेतू 50 हजार रुपये, गांव कैलरम निवासी विक्रम को मनियारी दुकान हेतू 1 लाख रुपये, गांव कठवाड़ निवासी सुनीता को ब्यूटी पार्लर की दुकान हेतू 50 हजार रुपये, गांव नरड़ निवासी ममता को कपड़े की दुकान हेतू 50 हजार रुपये, गांव पीड़ल निवासी रेखा को जनरल स्टोर हेतू 50 हजार रुपये, गांव खानपूर निवासी सुनीता को हैंडीक्राफ्ट दुकान हेतू 50 हजार रुपये, गांव कुलतारण निवासी जगरूप को मनियारी की दुकान हेतू 50 हजार रुपये, गुहला निवासी मुकेश को करियाणा दुकान के लिए 50 हजार रुपये, कैथल में प्रताप गेट निवासी संगीता को कपड़े की दुकान हेतू 50 हजार रुपये, मालखेड़ी निवासी गुलाब को मैडिकल दुकान हेतू एक लाख रुपये, राजौंद निवासी ईश्वर सिंह को कबाड़ी वर्क हेतू 50 हजार रुपये, किठाना निवासी सत्ता को बर्तन स्टोर हेतू 50 हजार रुपये, किठाना निवासी गौरव को इलैक्ट्रिशीयन कार्य हेतू 50 हजार रुपये, कैथल में अर्जुन नगर निवासी रजनी को गिफ्ट गैलरी हेतू 50 हजार रुपये, बाबा लदाना निवासी शमशेर को सिलाई वर्क हेतू 50 हजार रुपये, दयौरा निवासी सविता को मनियारी दुकान हेतू एक लाख रुपये, कलायत निवासी शशि को करियाणा दुकान हेतू 50 हजार रुपये, थेहखरक निवासी रविंद्र को सिलाई कार्य के लिए एक लाख रुपये तथा सौंगरी निवासी संगीता को मनियारी की दुकान के लिए 50 हजार रुपये की ऋण राशि लेने में शामिल हैं।

बॉक्स: लाभार्थियों ने जताया मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार--बोले-प्रदेश सरकार ले रही है जरूरतमंदों की सुध
मुख्यमंत्री परिवार उत्थान योजना के तहत लाभ लेने वाले लाभार्थी अर्जुन नगर निवासी रजनी, कठवाड़ निवासी सुनीता, नरड़ निवासी ममता, दयौरा निवासी सविता, चीका निवासी अंजू मेहरा, पीड़ल निवासी रेखा, थेहखरक निवासी रविंद्र, बाबालदाना निवासी शमशेर आदि ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार प्रकट करते हुए कहा कि आत्मनिर्भर बनाने के लिए रूचि अनुसार ऋण राशि मुहैया करवाई गई है। इस राशि से अपना व्यापार करेंगे और परिवार को सशक्त बनाएंगे। इस योजना से जरूरतमंदों को मदद मिल रही है। सभी ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ-साथ जिला प्रशासन का भी आभार प्रकट किया।

बॉक्स: स्वीकृति ऋण पत्र वितरित करने उपरांत एडीसी के साथ सभी लाभार्थियों ने समूह चित्र खिंचवाया। एक सामाजिक व्यवस्था के तहत लाभार्थियों को विशेषकर महिला लाभार्थियों को कुर्सियों पर बैठाया गया और प्रशासनिक अधिकारियों ने कुर्सियों के पीछे खड़े होकर व्यवस्था को कार्य रूप में परिणत किया। प्रशासन की इस व्यवस्था की लाभार्थियों ने जमकर सराहना की। उनका कहना था कि जिला प्रशासन द्वारा हमें पूरा मान-सम्मान दिया गया है, इसके लिए हम जिला प्रशासन का आभार व्यक्त करते हैं।

Share this story