logo
  • Fri Dec 31 2021
  • 5:23:59 PM
आईजी ममता सिंह को कैथल में किसलिए दिया गया सलामी गार्ड द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर क्या कोई विशेष अतिथि है आईजी
pulis
मालखाने में सुरक्षित रखे गए माल मुकदमें का रजिस्टर में अंकित मद अनुसार मिलान किया गया। प्रवक्ता ने बताया कि विचाराधीन चल रहे 50 मामलों के नमुने सुरक्षित रखने उपरांत माल मुकदमा को नियमानुसार कार्रवाई दौरान नष्ट किया जाना है।
 

आईजी ममता सिंह को कैथल में किसलिए दिया गया सलामी गार्ड द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर क्या कोई विशेष अतिथि है आईजी 

कैथल पुलिस मालखाने में सब ठीक है ना , आईजी ममता सिंह कई बार लगा चुकी कैथल मालखाने के चक्कर 

करनाल रेंज आईजी ममता सिंह पहुंची कैथल,


जुडिशियल मालखाना में रखी एनडीपीएस एक्ट मामलों में बरामद केस प्रोपर्टी चैक करने उपरांत की गई सील,
कार्यालय पुलिस अधीक्षक व पुलिस लाईन का किया गया निरीक्षण,
सभी पुलिस कर्मचारी व अधिकारियों को दिए उचित दिशा-निर्देश


कैथल, 28 दिसंबर (अटल हिन्द ब्यूरो  )  

पुलिस महानिरिक्षक करनाल मंडल करनाल  ममता सिंह मंगलवार की सुबह कैथल पहुंची। उनके द्वारा जुडिशियल मालखाना में रखी एनडीपीएस एक्ट मामलों में बरामद केस प्रोपर्टी चेक करने उपरांत सील की गई तथा इसके उपरांत कार्यालय पुलिस अधीक्षक की सभी शाखाओं तथा पुलिस लाईन का निरीक्षण किया गया।


पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि कैथल पुलिस द्वारा 51 मामलों में बरामद किया गया नशा जिसमें डोडा पोस्त, चूरा पोस्त, गांजा, चरस, हीरोइन, मेडिसिन व स्मैक शामिल है, को नष्ट किए जाने की प्रक्रिया चल रही है, जिसमें आईजी करनाल मंडल करनाल  ममता सिंह व डिस्पोजल कमेटी के सदस्य एसपी करनाल गंगा राम पूनिया तथा एसपी कैथल लोकेंद्र सिंह द्वारा कोर्ट परिसर स्थित जुडिशियल मालखाना की जांच की गई है। जिसके दौरान मालखाने में सुरक्षित रखे गए माल मुकदमें का रजिस्टर में अंकित मद अनुसार मिलान किया गया।

प्रवक्ता ने बताया कि विचाराधीन चल रहे 50 मामलों के नमुने सुरक्षित रखने उपरांत माल मुकदमा को नियमानुसार कार्रवाई दौरान नष्ट किया जाना है। जबकि एक मामला अदालत द्वारा डिसाइड कर दिया गया है, उसके नमुने तथा अन्य माल मुकदमे को नष्ट किया जाएगा। इस दौरान डीएसपी हेडक्वार्टर कुलवंत सिंह,  मालखाना इंचार्ज एसआई कृष्णपाल, एचसी होशियार सिंह तथा अन्य कर्मचारी व अधिकारी मौजूद रहे। जांच प्रक्रिया उपरांत मुख्य मालखाना कक्ष के लॉक को आईजी ममता सिंह द्वारा सील कर दिया गया। उक्त नशे को ड्रग डिस्पोजल कमेटी द्वारा आगामी दिनों करनाल स्थित गांव बजीदा जाटान स्थित वेस्टेज फैक्ट्री में शिघ्र ही नियम अनुसार कार्रवाई अंतर्गत नष्ट किया जाना है।


बॉक्स 1-
पुलिस महानिरिक्षक करनाल रेंज करनाल  ममता सिंह को इससे पूर्व जुडिशियल मालखाना में पहुंचने पर सलामी गार्ड द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके उपरांत पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह द्वारा आईजी ममता सिंह तथा एसपी करनाल गंगाराम पूनिया को स्मृति स्वरुप पौधे भेंट किए गये। 
यहाँ कैथल पुलिस की एक बात समझ नहीं आ रही क्या   मालखाने का निरिक्षण करने वाला व्यक्ति या अधिकारी इतना महत्वपूर्ण होता है की उसे   सलामी गार्ड द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाता है। 

           
बॉक्स 2- कार्यालय पुलिस अधीक्षक की सभी शाखाओं का किया निरीक्षण:-
प्रवक्ता ने बताया कि इसके उपरांत पुलिस महानिरिक्षक करनाल रेंज करनाल  ममता सिंह द्वारा कार्यालय पुलिस अधीक्षक कैथल की सभी शाखाओं का निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर उन्होने एसपी ऑफिस की समस्त शाखाओं का बारीकी से निरीक्षण किया व सभी शाखा इंचार्जों को जरूरी दिशा-निर्देशों के साथ-साथ और बेहतर ढंग से कार्य करने के सुझाव दिये। उन्होने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में साफ-सफाई व स्वच्छता की भी सराहना की।


बॉक्स 3- आईजी ने पुलिस लाइन का किया निरीक्षण, पुलिस कर्मचारियों द्वारा दंगा रोधक सामान सहित की गई मॉकड्रिल:-
इसके उपरांत दोपहर को पुलिस महानिरिक्षक करनाल रेंज करनाल  ममता सिंह द्वारा जिला पुलिस लाइन कैथल का निरीक्षण किया गया। पुलिस लाईन में उनके समक्ष पुलिस कर्मचारियों द्वारा दंगा निरोधक टीम बनाकर मॉक ड्रिल की गई। जिसमें पुलिस बल की टुकड़ियों ने स्पेशल मॉक ड्रिल की, जिन्होंने उपद्रवी भीड़ तथा असामाजिक तत्वों से निपटने के लिए विभिन्न प्रकार की फोरमेशन बनाकर दिखाई। उक्त मोक ड्रिल में आंसु गैस टीम द्वारा भी भाग लिया गया, जिनके द्वारा आंसू गैस के गोले तथा वज्रा वाहन का प्रयोग कर के दिखाया गया। दंगा निरोधक टीमों द्वारा भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठी, डण्डो, कैनसिल्ड तथा वाटर कैनन का प्रयोग करके दिखाया गया। इस दौरान आईजी ममता सिंह ने कहा कि पुलिस कर्मचारी व अधिकारियों को हर परिस्थिति से निपटने के लिए हर पल तैयार रहना चाहिए। इसके अतिरिक्त सभी पुलिस कर्मचारी व अधिकारी कोरोना के ओमिक्रोन वेरियंट को ध्यान में रखकर कोविड-19 नियमों का स्वयं पालन करें तथा आमजन को भी मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने के लिए जागरुक करते रहे। आमजन भी इसको हल्के में ना लेकर नियमों का पालन करें। इसके बाद उन्होंने पुलिस लाईन की परिवहन शाखा, शस्त्रागार, वस्त्र भण्डार, स्टोर रूम, आदि शाखाओं का निरीक्षण किया गया। इस दौरान सभी शाखाओं के रिकॉर्ड की जांच की व साफ-सफाई का जायजा लिया और पुलिस कर्मचारियों को उचित दिशा निर्देश दिए गए। पुरे निरीक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक कैथल लोकेंद्र सिंह, उप पुलिस अधीक्षक कुलवंत सिंह, हैड क्लर्क इंस्पेक्टर भरत कुमार, अकाउंटेंट एसआई बालकिशन, रीडर एसपी एसआई रमेश चंद, एलओ एसआई रामसिंह, टीएसआई नरेश कुमार, ओएचसी जसबीर सिंह, सीडीआई एचसी अजय व अन्य पुलिस कर्मचारी मौजूद रहे।

Share this story