कैथल जिले में खाद घोटाले में 1 करोड़ 11 लाख का गबन,  चार पर मामला दर्ज
कैथल जिले में खाद घोटाले में 1 करोड़ 11 लाख का गबन,  चार पर मामला दर्ज
कैथल जिले में खाद घोटाले में 1 करोड़ 11 लाख का गबन,  चार पर मामला दर्ज
कलायत(अटल हिन्द /तरसेम सिंह ) कलायत स्थित दी कुराड़ सहकारी समिति में 1 करोड़ 11 लाख 2 हजार 639 रुपए 49 पैसे के गबन करने पर तत्कालीन प्रबंधक सहित 4 अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। कलायत एसडीएम द्वारा जिला उपायुक्त को 20 अगस्त वर्ष 2020 में की गई शिकायत पर पुलिस प्रशासन ने यह कार्रवाई की है। इस संबंध में तभी से विभिन्न स्तरों पर जांच जारी थी। पुलिस जांच अधिकारी गुरुदेव सिंह ने बताया कि जांच के संबंध मे सहायक रजिस्टर सहकारी समिति कैथल से रिपोर्ट की गई। रिपोर्ट अनुसार कुल 12 सदस्यों से 1112639.49 रुपये सीधे तौर पर गबन किया है। इसमें उस समय के कार्यरत विक्रेता कर्मचारी वीरेंद्र सिंह, पैक्स लिपिक जगबीर सिंह, तत्कालीन प्रबंधक कृष्ण राम, कृष्ण दत्त व अन्य की संलिप्तता दर्शाई गई है।
उप रजिस्ट्रार सहकारी समितियां कुरुक्षेत्र को मामले में संलिप्त कर्मचारियों पर आईपीसी धारा अनुसार एफ.आई.आर दर्ज करवाने के लिए स्वीकृति के लिए लिखा गया। जांच रिपोर्ट के आधार पर समिति प्रबंधक दी कुराझ पैक्स लिमिटेड कुराझ को लिखा गया कि वह जांच रिपोर्ट के आधार पर दोषी कर्मचारी से गबन की राशि की वसूली की समिति सदस्य से न करके ब्याज सहित नियमानुसार वसुली संबंधित आरोपी कर्मचारी से करना सुनिश्चित करे। पैक्स सर्विस रुल 2014 व संशोधन 2017 अनुसार सख्त से सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाए। जांच अनुसार महाप्रबंधक दी कैथल केन्द्रीय सहकारी बैंक लिमिटेड कैथल को लिखा गया है कि सलिप्त कर्मचारियों पर बैंक सेवा नियम अनुसार आगामी आवश्यक कार्यवाही करे व की गई कार्यवाही से 30 दिन के अन्दर अन्दर सहायक रजिस्टर सहकारी समितियां कैथल के कार्यालय को सुचित करे।
अधिकारियों पर ये लगे थे आरोप
सहकारी समिति कुराड़ बैंक के कर्मचारियों पर किसानों की पासबुक में फर्जी एंट्री कर लाखों रुपए की खाद घोटाला करने का आरोप लगाया गया था। मामले की जांच के लिए प्रशासनिक अधिकारियों के निर्देश पर जांच टीम गठित की गई थी। किसानों द्वारा दी गई शिकायत के आधार पर किसानों के घर द्वारा पर जाकर मामले की गहनता से जांच कार्रवाई शुरू की गई। आरोप था कि सहकारी बैंक के कर्मचारियों द्वारा उस दौरान कुछ दिन पहले विभागीय कार्रवाई के नाम पर बैंक पास बुक अपने पास रख ली थी। इसमें भोलेभाले किसानों को चूना लगाने के लिए फर्जी हस्ताक्षर कर किसानों के खाते से लाखों रुपए का खाद दर्ज करते हुए जारी किया। हैरत की बात है कि जो खाद वितरण दर्शाया गया है उसमें एक लंबी फेहरिस्त ऐसे किसानों की है जिन्होंने खाद लिया ही नहीं। फिर भी किसानों के खाते में फर्जी तरीके से खाद के कट्टे दर्शाना यह साबित करता है कि सरकार एवं किसानों को चूना लगाने का खेल लंबे समय से जारी है।
किसानों ने ठोस कार्रवाई के लिए दिए थे शपथ पत्र
कलायत स्थित दी कुराड़ पैक्स समिति में जुलाई 2020 में किसानों ने एकजुट होकर एसडीएम को करोड़ों रुपए खाद घोटाले की शिकायत की थी। ठोस कार्रवाई के लिए किसानों ने शपथ पत्र भी सौंपे थे। इसी आधार पर एसडीएम ने डीसी के साथ-साथ कलायत डीएसपी को कानूनी कार्रवाई बारे शिकायत दी थी। तहकीकात में कलायत थाना प्राप्त शिकायत पर अपराध धारा 420,409,201 घटित होना पाये जाने पर अभियोग न 293 दिनांक 20.10.2021 धारा 420,409,201 थाना कलायत में मामला दर्ज किया गया है। कलायत एसडीएम कार्यालय में 20 जुलाई 2020 को किसानों ने महत्वपूर्ण स्टेंड लेते हुए शपथ पत्रों की कतार एसडीएम कार्यालय में लगा दी थी। इनमें शामिल सुभाष, बलवान, सतबीर, छोटू राम, चांदीराम, रघुवीर सिंह, महावीर, साधु राम, कृष्ण कुमार, चंद्रपाल, संजीव, प्रेम कुमार व अन्य किसानों शामिल थे। उन्होंने बगैर विलंब शपथ पत्र अधिकारियों के समक्ष पेश किए थे। ताकि खाद घोटाले से पर्दा हटाने में सफलता हासिल हो।

Share this story