जीएसटी के करोडो रुपए गबन करने वाले 3 आरोपी चीका पुलिस द्वारा गिरफतार,
जीएसटी के करोडो रुपए गबन करने वाले 3 आरोपी चीका पुलिस द्वारा गिरफतार,

जीएसटी के करोडो रुपए गबन करने वाले 3 आरोपी चीका पुलिस द्वारा गिरफतार,
कैथल, (atal hind)जाली दस्तावेजों की मार्फत फेक फर्म तैयार करवाकर जीएसटी के करोडो रुपए गबन करने के मामले में थाना चीका पुलिस द्वारा 3 आरोपी गिरफतार किए गये है। पुलिस रिमांड दौरान आरोपियों के कब्जे से धोखाधडीपुर्वक हडपी गई 1 लाख 52 हजार रुपए नकदी तथा वारदात में प्रयुक्त गाडी, जाली दस्तावेज, मोबाईल फोन, सीपीयु, डोंगल तथा अन्य उपकरण बरामद कर लिए गए। तीनो आरोपी न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिए गये।

जीएसटी के करोडो रुपए गबन करने वाले 3 आरोपी चीका पुलिस द्वारा गिरफतार,
पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह ने बताया कि जाली दस्तावेजों की मार्फत भागल में फेक फर्म तैयार करवाकर जीएसटी के करोडो रुपए गबन करने के मामले में थाना प्रबंधक चीका इंस्पेक्टर विकास कुमार तथा एएसआई तरसेम लाल की टीम द्वारा 10 जून को आरोपी सोनु कुमार, आशीष कुमार तथा राहुल तीनो निवासी गोबिंदगढ जिला फतेहगढ साहिब पंजाब को भादसं. की धारा 419,420,467,468,471 तथा सीजीएसटी एक्ट की धारा 132(एल)(4) अंतर्गत गिरफतार करके आरोपियों का न्यायालय से 14 जुन तक 3 दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया था। एसपी ने बताया कि स्टेट जीएसटी आफिसर कैथल शिव कुमार की शिकायत पर थाना चीका में 4 अप्रैल 2019 को दर्ज मामले अनुसार अज्ञात आरोपियों द्वारा जाली दस्तावेजों तथा जाली बैंक डीड के आधार पर भागल में एमएस मांसी अलोय आयरन/स्टील नामक फर्म तैयर करवाई गई थी। आरोपियों द्वारा उक्त फर्म की मार्फत 31 करोड 10 लाख 42 हजार 67 रुपए की खरीद-फरोख्त करके जीएसटी अदा नही की गई। आरोपियों द्वारा सरकार के साथ जीएसटी के रुप में करीब 5 करोड 59 लाख 56 हजार 262 रुपए रकम की धोखाधडी की गई। एसपी ने बताया कि पुलिस रिमांड पर लिए गए आरोपियों की निशानदेही पर उनके कब्जे से धोखाधडीपुर्वक हडपी गई 1 लाख 52 हजार रुपए नकदी तथा वारदात में प्रयुक्त गाडी, जाली दस्तावेज, मोबाईल फोन, सीपीयु, डोंगल तथा अन्य उपकरण बरामद कर लिए गये। सभी आरोपी न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिए गये।

Share this story