मेरा घर नहीं बसा तो तुम्हारा घर भी नहीं बसने दूंगा
मेरा घर नहीं बसा तो तुम्हारा घर भी नहीं बसने  दूंगा

मेरा घर नहीं बसा तो तुम्हारा घर भी नहीं बसने  दूंगा

और अपने साथ लाये पेट्रोल को मासूम बच्चों पर छिड़क लगा दी आग

दामाद की इस दादागिरी ने ले ली चार वर्ष के मासूम दक्ष की जान

पेट्रोल की आग में झुलसे दामाद का पुलिस निगरानी में हो रहा उपचार

दबंग दामाद रिंकू पुत्र महेंद्र के खिलाफ पटौदी थाना में मुकदमा दर्ज

फतह सिंह उजाला

मेरा घर नहीं बसा तो तुम्हारा घर भी नहीं बसने  दूंगा
पटौदी ।
 रोहतक के बोहर निवासी रिंकू पुत्र महेंद्र की शादी पटौदी वार्ड एक में रहने वाले गौरव उर्फ सोनू पुत्र मदनलाल की बहन के साथ शादी हुई थी । शादी के बाद से ही पति-पत्नी के बीच मनमुटाव की वजह से सुमन अपने भाई गौरव उर्फ सोनू के यहां पटौदी बीते करीब 8 वर्ष से रह रही थी। बताया गया है कि दोनों परिवारों के बीच मनमुटाव को दूर करने के लिए सामाजिक और पंचायती तौर पर भी राजीनामा हुआ था और इसके बाद सुमन अपनी ससुराल रोहतक भी चली गई थी । लेकिन कुछ ही दिनों के बाद वह फिर से पटौदी अपने मायके अथवा भाई के घर रहने के लिए आ गई और तब से लेकर फिलहाल वह पटौदी में ही अपने भाई के घर पर ही रह रही है।
मेरा घर नहीं बसा तो तुम्हारा घर भी नहीं बसने  दूंगा
मंगलवार को दादागिरी के अंदाज में दामाद हाथों में पेट्रोल की बोतल तथा कमर पर कपड़ों के के नीचे धारदार हथियार छुपा कर कर अपने साले गौरव उर्फ सोनू के घर पहुंचा। पुलिस में दर्ज करवाई गई शिकायत के मुताबिक गौरव उर्फ सोनू पुत्र स्वर्गीय मदनलाल के द्वारा बताया गया है कि मंगलवार दोपहर 2 बजे के करीब उसकी पत्नी ज्योति, बहन सुमन , मामा नरेश , नाना हीरालाल मकान में बने कमरे के बाहर ही बैठकर घरेलू चर्चा कर रहे थे और 4 वर्ष का लड़का दक्ष तथा  9 माह की मासूम बच्ची मानवी भी उस समय आंगन में ही मौजूद थे । उसी दौरान अचानक दामाद रिंकू पुत्र महेंद्र निवासी रोहतक हाथ में पेट्रोल की बोतल लेकर घर में घुसा चला आया और चिल्लाते हुए कहा कि मेरा घर नहीं बसा, तो तुम्हारा घर भी नहीं बस ने दूंगा । इसके बाद यह कहते और रूक्का मारते हुए दामाद रिंकू ने पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी ।
मेरा घर नहीं बसा तो तुम्हारा घर भी नहीं बसने  दूंगा
पेट्रोल के कारण आग, जहां-जहां भी पेट्रोल गिरा वहां बहुत तेजी से फैलती चली गई और कपड़े ,वस्त्र व अन्य सामान भी जती से सुलगता चला गया । जिस समय पेट्रोल डालकर दामाद रिंकू के द्वारा माचिस से आग लगाई गई तो उसी आग की चपेट में स्वयं दामाद रिंकू भी आ गया । पुलिस में दी गई शिकायत के मुताबिक आरोपी दामाद पेट्रोल छिड़ककर घर में आग लगाने के बाद मामा नरेश और नाना हीरालाल को धक्का देते हुए घर से बाहर गली की तरफ भाग निकला । सुलगती आग में झुलसने के कारण बचाव के लिए शोर मचाया जाने से आस पड़ोस के लोग भी एकत्रित हो गए और आग लगाने वाला दामाद तब तक घर से बाहर निकल चुका था ।

वही प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जिस वक्त घर में पेट्रोल डालकर आग लगाई गई पूरे घर के कमरों में आग के कारण धुआ सहित घुटन और भभका बना हुआ था तथा मासूम बच्चे आग में बुरी तरह से झुलस कर मौके पर ही तड़प रहे थे । पड़ोस में रहने वाले ही एक मुस्लिम युवक ने हिम्मत दिखाते हुए दोनों मासूम बच्चों को घर से बाहर निकाला और इसके बाद में जानकारी मिलते ही फायर ब्रिगेड सहित स्थानीय पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंच गई । इसी दौरान दबंग दामाद सहित आग में बुरी तरह से झुलसे 4 वर्ष के दक्ष 9 माह की मानवी तथा नरेश व हीरालाल और ज्योति को भी सबसे पहले पटौदी नागरिक अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया । जहां से उनकी गंभीर हालत को देखते हुए गुरुग्राम रेफर कर दिया गया। गुरुग्राम में 4 वर्षीय मासूम दक्ष की गंभीर हालत को देखते हुए उसे उपचार के लिए दिल्ली सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया। जहां उपचार के दौरान मंगलवार देर रात की मासूम ने दम तोड़ दिया।  पटौदी थाना पुलिस ने गौरव उर्फ सोनू पुत्र स्वर्गीय मदनलाल निवासी वार्ड नंबर 1 पटौदी के द्वारा दी गई शिकायत के आधार पर दबंग दामाद रिंकू पुत्र महेंद्र निवासी बोहर रोहतक के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 और 307 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है ।

पुलिस निगरानी में उपचार
इस पूरे घटनाक्रम में पटौदी थाना एसएचओ अमित कुमार से जब आरोपी रिंकू पुत्र महेंद्र की गिरफ्तारी के संदर्भ में जानकारी मांगी गई तो थाना एसएचओ अमित कुमार ने आरोपी के खिलाफ मिली शिकायत के मुताबिक मुकदमा दर्ज होने की पुष्टि कर दी। इसके साथ ही थाना एसएचओ अमित कुमार ने कहा पेट्रोल डालकर लगाई गई आग में स्वयं भी झुलसे आरोपी रिंकू पुत्र महेंद्र निवासी बोहर रोहतक का पुलिस की निगरानी में उपचार चल रहा है । जब वह स्वस्थ हो जाएगा तो इस पूरे मामले में तहकीकात के लिए आरोपी से भी मामले में पूरी  तरह से घटना के बारे में पूछताछ की जाएगी।

Share this story