9 लाख 80 हजार रुपए लूट मामले में शिकायत कर्ता ने ही अपने 2 अन्य दोस्तों से मिलकर आपराधिक षडय़ंत्र तहत रची थी साजिश
9 लाख 80 हजार रुपए लूट मामले में शिकायत कर्ता ने ही अपने 2 अन्य दोस्तों से मिलकर आपराधिक षडय़ंत्र तहत रची थी साजिश

9 लाख 80 हजार रुपए लूट मामले में शिकायत कर्ता ने ही अपने 2 अन्य दोस्तों से मिलकर आपराधिक षडय़ंत्र तहत रची थी साजिश

कैथल, 13 जून ( अटल हिन्द ब्यूरो  ) शुक्रवार 11 जून की दोपहर चीका स्थित आईसीआईसीआई बैंक से रुपए निकलवा कर निकले व्यवसायी से अज्ञात बाइक सवार व्यक्तियों द्वारा 9 लाख 80 हजार रुपए झपट ले जाने की वारदात को एसपी लोकेंद्र सिंह के कुशल मार्गदर्शन तहत सीआईए-1 पुलिस द्वारा घटना के मात्र 24 घंटे मध्य सुलझाकर उल्लेखनीय सफलता हासिल की गई है। पुलिस द्वारा वारदात में लिप्त सभी तीनों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गये, जिनके कब्जे से कथित तौर पर झपटी गई समुचित 9 लाख 80 हजार रुपए नकदी तथा वारदात में प्रयुक्त इंडिगो गाड़ी बरामद कर ली गई। पूछताछ दौरान खुलाशा हुआ कि शिकायत कर्ता द्वारा ऑनलाईन जुआ में लाखों रुपए हार जाने कारण अपने 2 अन्य दोस्तों के साथ मिलकर आपराधिक षडय़ंत्र के तहत झपटमारी की साजिश रची गई थी। रविवार को सभी आरोपी न्यायालय में पेश किए जांएगे, जहां से एक आरोपी का वारदात में प्रयुक्त मोटरसाइकिल की बरामदगी हेतू पुलिस रिमांड हासिल किया जाएगा।

9 लाख 80 हजार रुपए लूट मामले में शिकायत कर्ता ने ही अपने 2 अन्य दोस्तों से मिलकर आपराधिक षडय़ंत्र तहत रची थी साजिश
रविवार की सुबह सीआईए-1 परिसर में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह ने बताया कि गौरव जिंदल निवासी केशव नगर चीका की शिकायत अनुसार उसने विक्रांगी केंद्र बैंक एटीएम की फ्रैंचाईजी ली हुई है। अपने एटीएम में पैसे डालने के लिए वह 11 जून को दोपहर के समय अपने दोस्त पंकज सिंगला निवासी हुड्डा चीका के साथ पंकज की गाडी में कैथल रोड जनता मार्केट चीका स्थित आईसीआईसीआई बैंक से पैसे लेने गया था। शिकायत के अनुसार जब वह बैंक से 9 लाख 80 हजार रुपए निकलवाकर नकदी वाले बैग सहित अपने दोस्त की गाडी में बैठने कि लिए खिडकी खोलने लगा तो आगे से बगैर नंबर की मोटरसाइकिल पर हेलमेट लगाए हुए आए 2 अज्ञात युवक उससे 9.80 लाख रुपए रखे नकदी भरा बैग छीन कर फरार हो गये। एसपी ने बताया कि मामले की जानकारी मिलते ही उन्होनें तुरंत एक्शन लेते हुए स्वयं घटनास्थल का निरीक्षण किया तथा पुलिस को जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी करने के आदेश दिए गये।

9 लाख 80 हजार रुपए लूट मामले में शिकायत कर्ता ने ही अपने 2 अन्य दोस्तों से मिलकर आपराधिक षडय़ंत्र तहत रची थी साजिश
एसपी ने बताया कि उपरोक्त अभियोग की जांच दौरान सीआईए-1 प्रभारी इंस्पेक्टर अमित कुमार की अगुवाई में एसआई कश्मीर सिंह, हेड कांस्टेबल तरसेम कुमार, एचसी मनीष की टीम द्वारा सीसीटीवी फूटेज के आधार पर आरोपी सुरेंद्र उर्फ सीड़ा निवासी चीका को पेहवा रोड़ चीका पर दबिश देकर काबू कर लिया गया। जिससे गहन पूछताछ उपरांत पुलिस द्वारा मुस्तैदी पूर्वक कार्रवाई दौरान वारदात में लिप्त आरोपी गौरव जिंदल तथा गौरव के दोस्त पंकज सिंगला को गौशाला चीका के पास से दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया गया। जांच के दौरान आरोपी सुरेंद्र के कब्जे में उसके मकान से 9 लाख 80 हजार रुपए नकदी सहित झपटा गया बैग विभिन्न दस्तावेजों सहित बरामद कर लिया गया। जबकि आरोपी पंकज के कब्जे से वारदात में प्रयुक्त इंडिगो गाड़ी बरामद कर ली गई।

9 लाख 80 हजार रुपए लूट मामले में शिकायत कर्ता ने ही अपने 2 अन्य दोस्तों से मिलकर आपराधिक षडय़ंत्र तहत रची थी साजिश
एसपी ने बताया कि पूछताछ दौरान मुख्यारोपी गौरव जिंदल ने कबूला कि वह ऑनलाईन जुआ की लत का शिकार होकर करीब 13/14 लाख रुपए नकदी हारकर कर्जदार हो चुका था, जिसके लिए उसने करीब 5/6 दिन पूर्व अपने उपरोक्त दोनों दोस्तों के साथ मिलकर योजना बनाई कि मैं तथा पंकज विक्रांगी कंपनी के एटीएम में डालने के लिए आईसीआईसीआई बैंक से पैस निकला कर लाएंगे। जिन्हें बैंक सामने से सुरेंद्र जबरन छीन कर भाग जाएगा। योजना अनुसार जहां उक्त नकदी उनके पास ही रहेगी, वहीं विक्रांगी कंपनी से बीमा के रुप में लूट की रकम भी मिल जाएगी, जिसे वे तीनों आपस में बांट लेंगे। आरोपी गौरव द्वारा जानबूझ कर पुलिस को गुमराह करने के लिए अपनी शिकायत में बाइक पर 2 लडके सवार होना बताया था। तीनों आरोपी रविवार को अदालत में पेश किए जाएगें, जहां से वारदात में प्रयुक्त मोटरसाइकिल की बरामदगी के लिए आरोपी सुरेंद्र का न्यायालय से पुलिस रिमांड हासिल किया जाएगा।

Share this story