पूंडरी व कैथल पुलिस ने हमला करने तथा फिरौती मांगने वाले 5 आरोपियों को किया गिरफ्तार
crime
माननीय न्यायालय की मार्फत प्रोडक्शन वारंट जारी करवाए गए थे। आरोपी के खिलाफ हत्या, लूट, शस्त्र अधिनियम, कातिलाना हमला करने आदि शीर्षक के कई मामले दर्ज हैं।

पूंडरी व कैथल पुलिस ने  हमला करने तथा फिरौती मांगने वाले 5 आरोपियों को किया गिरफ्तार  


कैथल, 22 नवंबर (अटल हिन्द/राजकुमार अग्रवाल  )

dsp

पूंडरी में दुकानदार पर गोलियां चलाकर कातिलाना हमला करने तथा फिरौती मांगने के मामले में एसपी लोकेंद्र सिंह के कुशल मार्गदर्शन तहत पुलिस द्वारा सफलता हासिल की गई है। गोलियां चलाने वाले दोनों आरोपियों सहित प्रकरण से जुड़े 5 आरोपियों को सीआईए-1 पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। सभी आरोपी सोमवार को अदालत में पेश किए जाएंगे, जिनसे सीआईए-1 पुलिस द्वारा व्यापक पूछताछ की जा रही है।
 सीआईए-1 परिसर में आयोजित प्रेस वार्ता दौरान उप पुलिस अधीक्षक रविंद्र कुमार सांगवान ने बताया कि 16 नवंबर की सुबह हाबडी मोड पूंडरी पर किराना की दुकान करने वाला प्रतीक निवासी पूंडरी अपनी दुकान का शटर खोलकर दुकान के आगे झाड़ु लगा रहा था, तो एक बिना नंबर की बाइक पर आए दो युवकों ने उसे एक पर्ची थमाई, जिसमें अंकुश कमालपुर गैंग तथा 50 लाख रुपए पहुंचा दे लिखा हुआ था। आरोपियों द्वारा पिस्टल से गोलियां चलाकर प्रतीक पर कातिलाना हमला भी किया गया तथा दोनों आरोपी मौके से फरार हो गए थे। प्रतीक की शिकायत पर थाना पुंडरी में मामला दर्ज किया गया था। स्वयं एसपी लोकेंद्र सिंह द्वारा भी घटनास्थल का निरीक्षण किया था तथा आरोपियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी करने के लिए सीआईए-1, सीआईए-2 तथा थाना पूंडरी की टीमों का गठन करके जल्द से जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करने के आदेश दिए गए थे। मामले की जांच दौरान सीआईए-1 प्रभारी इंस्पेक्टर अमित कुमार की अगुवाई में सब इंस्पेक्टर कश्मीर सिंह, एएसआई धर्म सिंह, हेड कांस्टेबल रघुबीर सिंह, एचसी तरशेम कुमार तथा एचसी मनीष कुमार की टीम द्वारा आरोपी अंकुश निवासी कमालपुर जिला करनाल को नियमानुसार कार्रवाई तहत गिरफ्तार करके उसका न्यायालय से 5 दिन के लिए पुलिस रिमांड हासिल किया गया था। आरोपी अंकुश किसी अन्य मामले में जिला जेल करनाल में बंद था, जिसकी उक्त मामले में गिरफ्तारी के लिए माननीय न्यायालय की मार्फत प्रोडक्शन वारंट जारी करवाए गए थे। आरोपी के खिलाफ हत्या, लूट, शस्त्र अधिनियम, कातिलाना हमला करने आदि शीर्षक के कई मामले दर्ज हैं। अंकुश से पूछताछ दौरान पूंडरी में उक्त वारदात को अंजाम देने वाले दोनों युवकों की पुख्ता पहचान कर ली गई थी। रविवार को उक्त दोनो आरोपी आशुतोष उर्फ कालु निवासी दुसानी जिला यमुनानगर तथा चंद्रप्रकाश निवासी कलारी जिला यमुनानगर को सीआईए-1 पुलिस द्वारा लुधियाना पंजाब से काबु करके गिरफ्तार कर लिया गया। आगामी जांच दौरान उक्त दोनो आरोपियों को हथियार व बाईक उपलब्ध करवाने वाले आरोपी अमित उर्फ मितु निवासी बुढेडा खालसा जिला करनाल तथा एक अन्य आरोपी सुखदेव निवासी कलानौर जिला यमुनानगर को भी पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। डीएसपी ने बताया कि जांच के दौरान खुलासा हुआ कि जेल में बंद अंकुश कमालपुर की गैंग को उसके नाम से उसका चचेरा भाई सुमित चलाता है। जेल में बंद अंकुश के साथी साहिल निवासी कोयर जिला करनाल से आशुतोष उर्फ कालु मिला था, जिसके द्वारा रोबिन निवासी पूंडरी पर गोली चलाने के लिए उसे कहा गया था। आशुतोष द्वारा सुखदेव उर्फ सुखा निवासी कलानौर जिला यमुनानगर की मार्फत सुमित के साथ संपर्क किया गया था। सुखदेव की मार्फत ही आशुतोष साहिल से मिला था। सुमित के कहने पर आशुतोष, चंद्रप्रकाश से मिला। डीएसपी रविंद्र सांगवान ने बताया कि रोबिन निवासी पूंडरी ने सुमित के एक अन्य साथी वीरेंद्र निवासी सभी जिला करनाल के साथ सांठगांठ करके प्रतीक पर गोली चलवा दी गई। विरेंद्र रोबिन का दुर का रिश्तेदार बताया गया है। डीएसपी ने कहा कि रोबिन को भी सीआईए-1 पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी सुमित तथा विरेंद्र को भी पुलिस द्वारा जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सभी आरोपी सोमवार को अदालत में पेश किए जाएंगे, जिनसे सीआईए-1 पुलिस द्वारा व्यापक पूछताछ की जा रही है।

 

Share this story