logo
  • Fri Dec 31 2021
  • 5:23:59 PM
रोहतक दुल्हन गोलीकांड : मौत से जंग जीत तनिष्का के शरीर में पांच गोलियां अभी भी बाकी
TANSHIKA
किरण बेदी की तरह हिम्मतवाली और बड़ा अफसर बनना चाहती है। उसे कम से कम डीएसपी जरूर बनना है। इसके लिए उसने अभी से पढ़ाई शुरू कर दी है।

रोहतक दुल्हन गोलीकांड : मौत से जंग जीत तनिष्का के शरीर में पांच गोलियां अभी भी बाकी

- पुलिस अफसर बन गोली से दूंगी जवाब


रोहतक (अटल हिन्द ब्यूरो )

रोहतक में शादी के बाद ससुराल पहुंचने से पहले ही गोलीकांड का शिकार होने से चर्चा में आई दुल्हन तनिष्का ने अभी भी हिम्मत नहीं हारी है। तनिष्का को रविवार के दिन उसके परिजन उसे मेंदांता अस्पताल से घर ले आए हैं। पांच गोली लगने के बाद भी तनिष्का ने मौत से जंग जीती है। तनिष्का के शरीर में पांच गोलियां अभी भी बाकी हैं। इस दौरान तनिष्का का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। वीडियो में उनसे सवाल किया जाता है कि उन्हें पुलिस अफसर ही क्यों बनना है। इस पर वे कहती हैं कि लड़कियां सुरक्षित नहीं हैं। वह उन्हें सुरक्षा प्रदान करेंगी ताकि वह बिना दबाव के दिन और रात कहीं भी आ जा सकें। वह इन्हें ऐसा प्लेटफार्म देंगी ताकि वह घबराए नहीं। वह जहां दाखिल थी, डॉक्टर और नर्स रात को भी ड्यूटी से आते जाते थे।उसका कहना है कि वह किरण बेदी की तरह हिम्मतवाली और बड़ा अफसर बनना चाहती है। उसे कम से कम डीएसपी जरूर बनना है। इसके लिए उसने अभी से पढ़ाई शुरू कर दी है। उसे ऐसा बनना है जो किसी से न डरे। साथ ही परेशान करने वालों को गोली का जवाब गोली से और पत्थर का जवाब पत्थर से दे सके। कई दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच जूझने के बाद तनिष्का की हालत में पहले से सुधार है।तनिष्का के शरीर में पांच गोलियां अभी भी बाकी हैं। शरीर में कमजोरी होने के कारण अभी ऑपरेशन करने की हालत नहीं है। जब वह स्वस्थ्य हो जाएगी तो उसे दोबारा ऑपरेशन के लिए ले जाया जाएगा। तब तक उसका उपचार घर पर ही किया जाएगा।


तनिष्का के घर जाकर सांसद अरविंद शर्मा ने पूछा हाल-चाल
 रोहतक लोकसभा क्षेत्र के सांसद अरविंद शर्मा रविवार को तनिष्का के घर पहुंचे और उसका हाल-चाल पूछा। परिजनों ने सांसद को पूरे घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी और बताया कि अभी तनिष्का के शरीर में पांच गोलियां बाकी है। शरीर में कमजोरी होने के कारण अभी ऑप्रेशन करने की हालत नहीं है। सांसद ने परिजनों को हर संभव मदद का भरोसा दिया।


यह था पूरा मामला
भाली-आनंदपुर गांव निवासी मोहन ने बहुअकबरपुर पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि एक दिसंबर को उसकी शादी सांपला निवासी तनिष्का के साथ हुई थी। शादी के बाद रात साढ़े दस बजे दुल्हन को लेकर गांव के लिए रवाना हुए। दूल्हे का भाई सुनील कार चला रहा था, जबकि साला उज्जवल भी साथ बैठा था। वह जब अपने गांव भाली में शिव मंदिर के पास पहुंचे तो एक इनोवा कार ने ओवरटेक करके उनकी गाड़ी रुकवा ली। इनोवा कार से दो युवक नीचे उतरे। वह हाथों में रिवाल्वर लिए हुए थे। सबसे पहले एक युवक ने कार की चाबी निकाल ली। इसके बाद दूसरा युवक पीछे गया और दुल्हन को चेहरे, गर्दन और पेट में गोली मार दी। हमलावर जाते समय हवाई फायर करते हुए सुनील की चेन भी तोड़कर भी ले गए। दुल्हन को पीजीआई में दाखिल कराया गया। जहां कई दिन तक उपचार के बाद उसे अन्य निजी अस्पताल में उपचार के लिए भेजा गया। वहीं एसआईटी ने साहिल और उसके साथियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जबकि तनिष्का की मदद के लिए पंचायतें आगे आई थी। इस दौरान सांपला बाजार को बंद भी किया गया था।



 

Share this story