आखिर कौन है विकास और सुविधाओं का दुश्मन
आखिर कौन है विकास और सुविधाओं का दुश्मन

आखिर कौन है विकास और सुविधाओं का दुश्मन

शौचालय, पानी की टंकी, कुर्सी, सौफा बैंच, सौर लाईटें तहशनैश

हैरान करने वाली घटना फर्रूखनगर क्षेत्र के गांव मुसैदपुर की

फतह सिंह उजाला
पटौदी। 
जहां एक ओर देहात के लोग विकास नहीं होने को लेकर अपने जनप्रतिनिधियों को कोसने पर मजबूर हो रहे है , वहीं गांव मुशैदपुर में इसके विपरित हो रहा है। हुआ यू कि शुक्रवार-शनिवार की रात्रि गांव के विकास विरोधी असमाजिक तत्तों ने  पंचायत फंड व सरकार की अन्य योजनाओं के तहत कराये गए विकासात्मक काम पर तोड़फोड़ का तांडव किया।

आखिर कौन है विकास और सुविधाओं का दुश्मन आखिर कौन है विकास और सुविधाओं का दुश्मन

विकास विरोधी तत्वों ने सरपंच रचना यादव द्वारा लगवाए गए दो प्लास्टीक के शौचालय, 500 लीटर पानी की टंकी, उसका स्टेंड, आधा दर्जन प्लास्टीक की कुर्सी, 3 सिमेंट से बने सौफा बैंच, 15 सौर उर्जा लाईटों की बैटरी, पैनल को न केवल तोड दिया गया बल्कि सड़क के बीच फैंक कर विकासकारी योजनाओं को नकार दिया। इस प्रकार की घटना की गांव व गुहांड में कडे शब्दों में निंदा की जा रही है। पुलिस ने एसईपीओ सुरजीत सिंह द्वारा दी गई शिकायत पर मौका मुआयना करके जांच शुरु कर दी है।

सरपंच रचना यादव, समाजसेवी धर्मेंद्र यादव ने बताया कि उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान जिला गुरुग्राम का सबसे सुंदर और स्वच्द गांव बनाने के लिए सांसद, विधायक के अलावा सरकार कि विभिन्न योजनाओं के तहत गांव के मुख्य मार्ग से काबली कीकर कटवा कर सड़क के दोनों छोर पर फूलदार पेड पौधे लगाए, पीने के पानी, शौचालय, ग्रामीणों के बैठने के लिए सिमेंट कर कुर्सीयां, रात्रि के समय दुधिया प्रकास के लिए सौर उर्जा सें संचलित स्र्टीट लाईटे लगाई और कार्यकाल समाप्त होने के उन्होंने सपने में भी नहीं सौंचा था कि जिस विकास कार्य को देख कर इलाके के ही नहीं पूरे जिले में मिशाल दी जाती थी आज उसकी गांव के असमाजिक तत्व विकास के नाम पर किए गए कार्यों और सुविधाओं को इस प्रकार नैस्ताबून कर देंगे। उन्होंने बताया कि असमाजिक तत्तवों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाने के लिए उन्होंने बीडीपओ कार्यालय , थाना फर्रुखनगर को सूचना दे दी थी। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने जांच के बाद कार्रवाई शुरु कर दी।

Share this story