दिल्ली रेवाड़ी के बीच मासिक सीजन टिकट पर यात्रा की उपलब्ध हो सुविधा
दिल्ली रेवाड़ी के बीच मासिक सीजन टिकट पर यात्रा की उपलब्ध हो सुविधा

दिल्ली रेवाड़ी के बीच मासिक सीजन टिकट पर यात्रा की उपलब्ध हो सुविधा

एआईआरएमएफ के महासचिव शिव गोपाल को रेल मंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

नॉर्दन रेलवे मेंस यूनियन के मंडल मंत्री अनूप शर्मा के नेतृत्व में सौंपा ज्ञापन

मौके पर पटौदी दैनिक रेल यात्री संघ के प्रतिनिधि मंडल सदस्य रहे मौजूद

फतह सिंह उजाला
पटौदी। 
अब जैसे-जैसे कोरोना कोविड-19 महामारी का दौर अथवा प्रकोप कम होता जा रहा है, आम जनमानस अपनी जीविका के संसाधन को सरल बनाने के लिए सक्रिय भी होने लगा है । दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र के लिए काम करने वाले अनेक लोगों के वास्ते सबसे सस्ता और सुगम परिवहन केवल मात्र ट्रेनों से आवागमन रहा है । कोविड-19 के दौरान देशभर में ट्रेन बंद करने के बाद अनेक स्थानों पर अब केंद्र सरकार ,रेलवे मंत्रालय और संबंधित रेलवे डिवीजन के द्वारा रेल सुविधाएं उपलब्ध करवाना आरंभ कर दिया गया है । इसी कड़ी में बीते सप्ताह ही सिरसा से रेवाड़ी होते हुए गुरूग्राम, दिल्ली तक आवागमन के लिए हरियाणा एक्सप्रेस ट्रेन करीब 16 वर्षों के बाद इस रूट पर उपलब्ध करवाई गई ।

दिल्ली रेवाड़ी के बीच मासिक सीजन टिकट पर यात्रा की उपलब्ध हो सुविधा

ट्रेन उपलब्ध होने के साथ ही आम यात्रियों के सामने सबसे बड़ी समस्या यह बन गई कि इस ट्रेन में केवल मात्र रिजर्वेशन के बाद ही सफर किया जाना संभव है । हरियाणा एक्सप्रेस के अलावा कुछ और ट्रेन भी दिल्ली रेवाड़ी के बीच में रेलवे प्रशासन के द्वारा उपलब्ध करवाई गई है , लेकिन सबसे बड़ी समस्या दैनिक कामकाजी और छोटा मोटा काम करने वाले लोगों के सामने साधारण टिकट के मुकाबले एक्सप्रेस या सुपर फास्ट ट्रेन की टिकट खरीद कर सफर करना अपने आप में बहुत बड़ी चुनौती साबित हो रहा है। मासिक सीजन टिकट एमएसटी जहां औसतन 3 सौ से 5सौ तक ट्रेनों में सफर के लिए उपलब्ध हो जाते हैं । इसके मुकाबले एक्सप्रेस और सुपरफास्ट टिकट का खर्चा कई गुना अधिक बैठता है ।

इसी सिलसिले में एनआरएमयू के उपाध्यक्ष रतन लाल योगी ने ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महासचिव गोपाल मिश्रा को दिल्ली और रेवाड़ी के बीच में मासिक सीजन टिकट पर ट्रेन में सुविधा उपलब्ध करवाने के संदर्भ में रेल मंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा है । इस मौके पर नॉर्दर्न रेलवे मेंस यूनियन के मंडल मंत्री अनूप शर्मा , डीआरयूसीसी के सदस्य एवं दैनिक रेल यात्री संघ पटौदी के अध्यक्ष योगेंद्र चौहान, सुमन कुमारी, महासचिव अनिल खगनवाल व अन्य सदस्य भी मौजूद रहे । दैनिक रेल यात्री संघ पटौदी के प्रतिनिधि मंडल के द्वारा विशेष रूप से अनुरोध किया गया है कि अहीरवाल क्षेत्र के अधिकांश लोग जिनमें दैनिक कामकाजी, छोटे-मोटे उद्योगों में काम करने वाले, किसानी से जुड़े लोगों के लिए सबसे सुगम और सस्ता यातायात अथवा परिवहन केवल मात्र ट्रेन ही है । कोरोना कॉविड 19 महामारी में संपूर्ण लॉकडाउन से पहले 2 दर्जन से अधिक ट्रेनें रेवाड़ी पटौदी गुडगांव पालम दिल्ली कैंट दिल्ली सराय रोहिल्ला दिल्ली जंक्शन नई दिल्ली और निजामुद्दीन तक आवागमन के लिए उपलब्ध थी। लेकिन कोविड-19 महामारी की वजह से अधिकांश ट्रेनें बंद कर दी गई । जिसका सीधा प्रभाव अनगिनत लोगों और उनके परिवारों की आर्थिक स्थिति पर पड़ा हुआ है । आज भी हालात यह है कि सस्ता परिवहन सुविधा उपलब्ध नहीं होने की वजह से अनेक लोग चाह कर भी रोजगार के लिए विभिन्न रेलवे स्टेशनों के आस पास वाले औद्योगिक क्षेत्र तक आवागमन में अपने आप को असमर्थ महसूस कर रहे हैं ।

दैनिक रेल यात्री संघ पटौदी के अध्यक्ष योगेंद्र चौहान के मुताबिक उत्तर पश्चिम रेलवे वह पश्चिम रेलवे के द्वारा अपने रूट पर चलने वाली अधिकांश ट्रेनों में आवागमन के लिए मासिक सीजन टिकट एनएसटी पर सफर करने की सुविधा उपलब्ध करवा दी है । इसी तर्ज पर दिल्ली डिवीजन उत्तर रेलवे रेलवे मंत्रालय रेलवे बोर्ड रेल मंत्री और केंद्र सरकार दिल्ली से रेवाड़ी के बीच में भी चलने वाली विभिन्न ट्रेनों में मासिक सीजन टिकट एनएसटी पर ट्रेन में सफर करने की सुविधा उपलब्ध करवाएं । 22 मार्च 2019 को पूरे भारत में लॉकडाउन लगा दिया गया था, जिसकी वजह से सभी ट्रेनों का आवागमन बंद कर दिया गया। जैसे-जैसे महामारी का प्रकोप कम हुआ विशेष और स्पेशल ट्रेनें भी यात्रियों के आवागमन के लिए आरंभ कर दी गई , लेकिन इस प्रकार की ट्रेनों का आम आदमी को दैनिक कामकाजी लोगों को कोई भी लाभ नहीं मिल पा रहा है । मासिक सीजन टिकट एमएसटी के मुकाबले काउंटर टिकट खरीद कर जो भी ट्रेनें चल रही है उनमें आवागमन करना 10 से 12 गुना अधिक तक महंगा पड़ रहा है ऐसे में 10 से 12000 प्रति माह कमाने वाला व्यक्ति आधे से अधिक पैसा ट्रेन के सफर में खर्च करने के लिए मजबूर हो रहा है और परिवार की आर्थिक स्थिति निरंतर गिरती जा रही है । वही छात्र वर्ग को भी बहुत अधिक नुकसान उठाना पड़ रहा है , अनेक बड़े शिक्षण संस्थान रेवाड़ी और दिल्ली के बीच के विभिन्न रेलवे स्टेशनों के आसपास में स्थित है । यहां पढ़ने वाले अनेक छात्रों का भविष्य भी दाव पर लगा हुआ है , क्योंकि बहुत से छात्रों के परिवार की आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है कि वह प्रतिदिन सड़क परिवहन या फिर रिजर्व ट्रेनों में बच्चों के आवागमन का खर्च उठा सकें । पटौदी दैनिक रेल यात्री संघ के प्रतिनिधि मंडल ने संबंधित सभी रेल अधिकारियों ,केंद्रीय रेल मंत्री और केंद्र सरकार सहित पीएम मोदी से अनुरोध किया है कि आम आदमी, छात्र वर्ग ,दैनिक कामकाजी और किसानी का काम करने वाले लोगों के हित को ध्यान में रखते हुए दिल्ली रेवाड़ी के बीच में चलने वाली विभिन्न ट्रेनों में मासिक सीजन टिकट एमएसटी के साथ-साथ काउंटर टिकट पर भी आवागमन की सुविधा जल्द से जल्द उपलब्ध करवाई जाए । इसका दोहरा लाभ होगा , रेलवे का राजस्व बढ़ेगा और संपूर्ण एनसीआर क्षेत्र की अर्थव्यवस्था को भी नए सिरे से गति प्रदान होगी।

Share this story