पटौदी महापंचायत में दिए भाषण को लेकर पुलिस जाल में फंसे राम गोपाल
पटौदी महापंचायत में दिए भाषण को लेकर पुलिस जाल में फंसे राम गोपाल

पटौदी महापंचायत में दिए भाषण को लेकर पुलिस जाल में फंसे राम गोपाल

पटौदी रामलीला मैदान में लव, जमीन जिहाद सहित धर्मांतरण पर महापंचायत

पटौदी थाना में रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत भोपाल के खिलाफ दर्ज मुकदमा

जिला पुलिस प्रवक्ता सुभाष बोकन के द्वारा मुकदमा दर्ज होने की पुष्टि की गई

रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल की गिरफ्तारी पुलिस के लिए बड़ी चुनौती

फतह सिंह उजाला

पटौदी महापंचायत में दिए भाषण को लेकर पुलिस जाल में फंसे राम गोपाल
पटौदी ।
   हिंदू जागरण मंच पटौदी के आह्वान पर पटौदी में बीते रविवार 4 जुलाई को आहूत लव जिहाद, और धर्मांतरण सहित अन्य मुद्दों को लेकर पंचायत में रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत भोपाल के द्वारा दिया गया भाषण अब उसी के गले की फांस बन गया है । इस मामले को लेकर पटौदी थाना में भारतीय दंड संहिता 153ंए और 295 के तहत रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज किया गया है । राम गोपाल शर्मा के खिलाफ दर्ज किए गए मुकदमे की पुष्टि जिला पुलिस प्रवक्ता सुभाष बोकन के द्वारा की गई है ।

जानकारी के मुताबिक पटौदी के रामलीला मैदान में 4 जुलाई रविवार को लव जिहाद, जमीन जिहाद, धर्मांतरण, बाजार जिहाद व अन्य मुद्दों को लेकर महापंचायत का आयोजन किया गया था । भारतीय किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष मास्टर ओम सिंह चौहान की अध्यक्षता में आहूत इस महापंचायत में भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता एवं करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू , भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष कुलभूषण भारद्वाज, जयदीप आर्य , सुशील गिरी, मोनू मानेसर , ब्रह्मचौतन्य महाराज,  आशुतोष महाराज, अनुराधा चौहान, रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल, केकेपाल  सहित अन्य वक्ताओं के द्वारा अपने अपने अंदाज में जिन मुद्दों को लेकर पंचायत आहूत की गई थी उन्हीं मुद्दों पर अपनी बेबाकी के साथ में विचार रखें । हालांकि सबसे अधिक करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष और भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता सूरजपाल अम्मू के द्वारा कहा गया संबोधन चर्चा का विषय बना ।

पटौदी महापंचायत में दिए भाषण को लेकर पुलिस जाल में फंसे राम गोपाल

लेकिन पटौदी पुलिस को जो शिकायत मिली , वह शिकायत दिनेश पुत्र ब्रह्म प्रकाश निवासी गांव जमालपुर थाना बिलासपुर के द्वारा दी गई है और पटौदी थाना पुलिस ने इसी शिकायत के आधार पर ही रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत भोपाल के खिलाफ सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने , भड़काऊ भाषण देने जैसे मामलों को लेकर मुकदमा दर्ज किया है । शिकायतकर्ता दिनेश पुत्र ब्रहम प्रकाश निवासी गांव जमालपुर के द्वारा दी गई शिकायत में साक्ष्य के तौर पर  पुलिस को सोशल मीडिया का यूट्यूब का एक लिंक भी दिया गया है, जिसमें ं कि रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल को भड़काऊ भाषण देते हुए बताया गया है।

कथित रूप से महापंचायत में रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल के द्वारा बेहद जोशीले अंदाज में युवाओं का आह्वान करते हुए कहा गया था कि युवाओं को आज हाथों में क्या पकड़ना है अथवा युवाओं के हाथों में आज क्या होना चाहिए ? यह आज का युवा भलीभांति जानता है । रामगोपाल शर्मा के शब्दों के मुताबिक अपने संबोधन में उसने कहा था कि उसके हाथों में क्या होना चाहिए, वह भलीभांति जानता है, वह यहां माइक पकड़ने के लिए नहीं आया है । गौरतलब है कि रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल पर शाहीन बाग में गोली चलाने का भी आरोप है और इस मामले में वह जमानत पर बाहर आया हुआ है। इसके बाद भी एक एक न्यूज़ चौनल को दिए गए इंटरव्यू सहित फेसबुक लाइव पर आकर रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल के द्वारा दावा किया जा चुका है कि वह अपने बयान पर पूरी तरह से कायम है । रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाने के बाद उसकी गिरफ्तारी किया जाना कथित रूप से जिला और पटौदी पुलिस के लिए कहीं ना कहीं बड़ी चुनौती भी साबित हो सकती है । रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल के खिलाफ दर्ज किए गए मुकदमे के संदर्भ में विभिन्न पुलिस अधिकारियों से जब बात करने का प्रयास किया गया तो अधिकारी बयान देने के लिए एक दूसरे पर टालमटोल करते रहे। अब देखना यह है कि पटोदी महापंचायत में आरोप अनुसार कथित धार्मिक उन्माद फैलाने, सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने जैसे बेहद विवादित दिए गए भाषण को लेकर हरियाणा पुलिस के कानून का मुजरिम बन चुके रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल को कब और किस प्रकार से पुलिस अपनी हिरासत में लेने में कामयाब हो सकेगी।

Share this story