हरियाणा में फिर तेज़ाब कांड ?युवती के बाल पकड चेहरे पर डाला तरल पदार्थ
girls  gureugram
हरियाणा में फिर तेज़ाब कांड ?युवती के  बाल पकड चेहरे पर डाला तरल पदार्थ

युवती के  बाल पकड चेहरे पर डाला तरल पदार्थ, युवक फरार

यह घटना फाजिलपुर मोड पर स्थित पीजी के बाहर बीती रात की

युवति के चेहरे पर तरल पदार्थ डाल, भागते युवक को लोगों ने पकड़ा

जांच के बाद ही पता लग सकेगा कि वास्तव में क्या तरल पदार्थ था

चेहरे पर तरल डालने के बाद पीड़ित युवति की आंखे बुरी तरह खराब

by-फतह सिंह उजाला/Atal Hind

gurugram girl
पटौदी।
 बुधवार रात्रि फर्रुखनगर क्षेत्र के फाजिलपुर रोड स्थित एक पीजी में किराए पर रह रही प्राइवेट कंपनी में नौकरी करने वाली एक युवती के चेहरे/मुंह पर अज्ञात युवक द्वारा  रंजीशन टॉयलेट क्लीनर जैसा तरल पदार्थ डाल देने का मामला प्रकाश में आया है। चेहरे व मुंह पर  तरल घुलनशील पदार्थ डाले जाने से युवती की आंखों व चेहरे पर गहरा प्रभाव पड़ा है। वह देख पाने में असर्मथ बताई जा रही है। टॉयलेट क्लीनर नुमा तरल पदार्थ डालकर भाग रहे युवक को स्थानीय लोगों ने पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। समाचार लिखे जाने तक युवती की हालत में सुधार नहीं होता देख चिकित्सकों ने एसजीटी अस्पताल बुढेडा में रैफर कर दिया है। पुलिस की माने तो चिकित्सा दृष्टि से पीड़ित युवती बयान देने की हालत में नहीं है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पूछताछ जारी है।

मिली जानकारी के अनुसार जींद जिला निवासी एक युवती फर्रूखनगर क्षेत्र के सीमावर्ती गांव फतेहपुर स्थित एक प्राइवेट कम्पनी की शाखा में गत तीन चार माह से नौकरी कर रही है। जो फाजिलपुर मोड स्थित पीजी में किराये पर रहती है। बुधवार रात्रि करीब 8 बजे पीजी के बाहर बैठ कर मोबाइल से किसी परिचित से वार्ता कर रही थी। उसी दौरान एक युवक आया और पीछे से उसके बाल पकडे़ और चेहरे पर बोतल में लाया हुआ घुलनशील तरल पदार्थ डाल दिया, घुलनशील पदार्थ डालते ही युवती अपने बचाव में शौर मचाने लगी और वह युवक मौके से फरार हो गया।

घटना के कुछ समय उपरांत स्थानीय लोगों ने युवक को पकड़ कर जमकर पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया और युवती को स्थानीय मेडीकेयर अस्पताल फाजिलपुर मोड में उपचार के लिए भर्ती करा दिया। अस्पताल के संचालक डा. अजय कुमार गौतम ने बताया कि युवती के चेहरे पर डाले गए घुलनशील तरल पदार्थ के कारण उसकी आंखों पर गहरा प्रभाव पड़ा है जो मात्र रोशनी का उजाला ही देख पा रही है। उपचार के बाद उसकों एसजीटी अस्पताल में नेत्र चिकित्सक के पास रैफर कर दिया है। उन्होंने बताया कि युवती के चेहरे पर डाला गया घुलनशीन तरल पदार्थ तेजाब, पोटासियम या टॉयलेट क्लीनर है या अन्य यह तो लैब जांच से ही स्पष्ट हो सकता है। पीड़ित युवती किसी प्रकार के बयान देने की हालत में नहीं है।

थाना प्रभारी देविंद्र यादव का कहना है कि पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है। पीड़ित लड़की के बयान देने व पकडे़ गए युवक की शिनाख्त के बाद ही सच्चाई का खुलासा हो सकेगा। पीड़ित युवती की हालत में सुधार न होता देख चिकित्सकों ने एसजीटी बुडेडा अस्पताल में रैफर कर दिया है। पकडे़ गए युवक से पुलिस के द्वारा पूछताछ जारी है।

Share this story