पटौदी पालिका के जेई और सेवादार को कारण बताओ नोटिस
gurugram
एसडीएम प्रदीप कुमार ने स्पष्ट और चेतावनी भरे लहजे में पालिका सचिव राजेश मेहता को निर्देश दिए

पटौदी पालिका के जेई और सेवादार को कारण बताओ नोटिस

अचानक पटौदी नगरपालिका कार्यालय पहुंचे एसडीएम प्रदीप कुमार

पालिका जेई और सेवादार को छोड़कर सभी कर्मचारी मिले मौजूद

पटौदी से बास पदमका सड़क के मोड़ पर बना गड्ढा भरने के निर्देश

by-फतह सिंह उजाला/ATAL HIND

GUURUGRAM
पटौदी ।
 जैसे जैसे मौसम बदल रहा है और कोरोना महामारी के बाद सरकारी और गैर सरकारी तमाम कार्यालय संस्थान इत्यादि में कामकाज सामान्य पटरी पर लौट रहा है । ऐसे में पटौदी के एसडीएम प्रदीप कुमार पूरी तरह से एक्शन मोड में दिखाई देने लगे हैं। इसी कड़ी में पटौदी के एसडीएम प्रदीप कुमार औचक निरीक्षण के लिए पटोदी नगरपालिका कार्यालय पहुंचे ।

यहां पहुंचते ही सबसे पहले उन्होंने पालिका कार्यालय स्टाफ का अटेंडेंस रजिस्टर तलब किया। पालिका सचिव राजेश मेहता एसडीएम प्रदीप कुमार को अपने ही कार्यालय के जेई और सेवादार की अनुपस्थिति का संतोषजनक जवाब नहीं दे सके । इस पर एसडीएम प्रदीप कुमार ने पटोदी नगर पालिका सचिव राजेश मेहता को निर्देश दिए कि पालिका सचिव तथा सेवादार को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाए। इसी मौके पर एसडीएम ने पटोदी पालिका कार्यालय परिसर का मुआयनस अभी किया तथा आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए यहां-वहां बेतरतीब तरीके से डाले गए फ्लेक्स-होर्डिंग इत्यादि को व्यवस्थित तरीके से रखने के लिए कहा । इसी मौके पर एसडीएम प्रदीप कुमार ने स्पष्ट और चेतावनी भरे लहजे में पालिका सचिव राजेश मेहता को निर्देश दिए कि पटोदी नगर पालिका क्षेत्र के मुख्य सड़क मार्गों पर दुकानों के आगे लगे अथवा लगाए गए अवैध तरीके से टीन शेड, साइन बोर्ड सहित अन्य प्रकार के अतिक्रमण को जल्द से जल्द हटाया जाए । जिससे कि मुख्य चौराहे को जोड़ने वाले सड़क मार्गों पर जाम जैसे हालात ना बने और आम जनमानस को भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़े ।

इसी मौके पर उन्होंने कहा कि नगर पालिका क्षेत्र में जहां-जहां भी गंदगी के ढेर लगे हैं , इनको तुरंत प्रभाव से हटाकर डंपिंग यार्ड साइट पर डलवाया जाए । वाहन चालकों की परेशानी को देखते हुए तथा रोड सेफ्टी को प्राथमिकता देते हुए पटौदी के एसडीएम प्रदीप कुमार ने नगर पालिका सचिव राजेश मेहता को निर्देश दिए कि पटौदी से बास पदम जाने वाले सड़क मार्ग के मोड़ पर जो गड्ढा बना हुआ है उसको बिना देरी किए समतल कर भरवाया जाए । जिससे कि किसी भी प्रकार की दुर्घटना अथवा हादसा ना हो सके । जारी किए गए आदेशों और निर्देशों की अवहेलना करने वाले पालिका के कर्मचारियों और अधिकारियों के खिलाफ विभागीय और अनुशासन अनुशासनात्मक कार्रवाई भी अमल में लाई जाएगी। इसके लिए संबंधित कर्मचारी और अधिकारी स्वयं ही जिम्मेदार रहेंगे ।

स्कूलों द्वारा निर्देशों की जाए पालना
इसी कड़ी में पटौदी के एसडीएम प्रदीप कुमार के द्वारा स्थानीय खंड शिक्षा अधिकारी धर्मपाल और फरुखनगर के खंड शिक्षा अधिकारी को भी सख्त आदेश दिए गए हैं कि सरकार के निर्देशानुसार एनसीआर क्षेत्र में आने वाले सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को वायु प्रदूषण के दृष्टिगत बंद किया हुआ है। लेकिन कुछ प्राइवेट स्कूल, सरकारी निर्देशों और हिदायत ओं की अनदेखी करते हुए मनमानी कर रहे हैं। ऐसे में उन्होंने पटौदी और फरुखनगर के खंड शिक्षा अधिकारियों को सख्त आदेश दिए हैं कि वह अपने कलस्टर इंचार्ज की ड्यूटी लगा कर समय-समय पर प्राइवेट स्कूलों की जांच करवा कर रिपोर्ट सौंपी जाए। जिससे यह पता लग सकेगा कि कौन स्कूल मालिक और संचालक एनजीटी सहित सरकार की हिदायतों की अवहेलना कर रहे हैं।  अवहेलना करने वालों के खिलाफ एनजीटी और हरियाणा सरकार की हिदायतों के अनुसार पुलिस कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित किया जाए।

Share this story