नरवाना में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व
नरवाना में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व
नरवाना में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व
शहर में निकाली गई प्रभातफेरी, मंदिरों में ठाकुर जी को झुलाए झूले
नरवाना, 30 अगस्त (राजीव) :
नरवाना में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व
नरवाना शहर में सोमवार को श्रीकृ ष्ण जन्माष्टमी का पर्व पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। जन्माष्टमी के मौके पर अलसुबह श्री बांके बिहारी संकीर्तन मंडल व श्री श्याम प्रेरणा मंडल के सदस्यों ने प्रभातफेरी निकाली जिसमें ठाकुर जी की सुंदर झांकी निकाली गई।
नरवाना में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व
 प्रभातफेरी पतराम नगर में स्थित श्री दुर्गा मंदिर से शुरू हुई और शहर के तमाम मुख्य मार्गों से होती हुई वापिस दुर्गा मंदिर पर आकर संपन्न हुई। प्रभातफेरी के दौरान युवा श्रीकृष्ण जन्म की खुशी में जमकर नाचे। लोगों ने जगह-जगह प्रभातफेरी का स्वागत किया और ठाकुर जी की झांकी के दर्शन किए। इसके अलावा अन्य मंदिरों से भी प्रभातफेरी निकाली गई। शहर के तमाम मंदिरों में जन्माष्टमी पर्व पर ठाकुर जी के विशेष झूले सजाए गए। मंदिरों को रंग बिरंगी रोशनियों से सजाया गया।
नरवाना में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व
महिलाओं व अन्य लोगों ने मंदिरों में पहुंच कर ठाकुर जी को झूला झुला कर पूजा अर्चना की और प्रसाद चढ़ाया। शहर के पतराम नगर में स्थित श्री दुर्गा मंदिर, श्री खाटू श्याम मंदिर, लक्ष्मी नारायण मंदिर, रेलवे रोड पर स्थित सनातन धर्म मंदिर, धौला कुआं पर स्थित प्राचीन शिव मंदिर, धीरजा मंदिर, नई धर्मशाला मंदिर, बीरबल नगर में स्थित दुर्गा मंदिर, नवग्रह शनि मंदिर व टोहाना रोड़ पर स्थित काली माता मंदिर सहित अन्य तमाम मंदिरों में श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर लोगों ने पहुंच कर ठाकुर जी को झूला झुला कर पूजा अर्चना की।
नरवाना में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व नरवाना में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व
श्री कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर लोगों ने व्रत रखे और रात को श्री कृष्ण जन्म का उत्सव मनाने के बाद ही अपने व्रत खोले। शहर के तमाम मंदिरों में जन्माष्टमी के मौके पर विशेष कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर छोटे-छोटेे बच्चे श्री कृष्ण की वेशवूषा में सुंदर-सुंदर कपड़े पहनकर अपने परिजनों के साथ मंदिरों में पहुंचे। दुर्गा मंदिर के पुजारी गीता राम शर्मा ने बताया कि मंदिर में सुबह से ही भक्तों की भीड़ जुटना शुरू हो गई थी और देर रात तक मंदिर में भक्तजन ठाकुर जी के दर्शनों के लिए पहुंचते रहे।

Share this story