logo
  • Fri Dec 31 2021
  • 5:23:59 PM
नरवाना के धनौरी में फांसी के फंदे पर लटके मिले परिवार के तीन सदस्य पति, पत्नी और बेटा शामिल
FANSI
धनौरी गांव निवासी ओमप्रकाश (48), उसकी पत्नी कमलेश (45), उसका बेटा सोनू (20) के शव बुधवार को मकान में फांसी के फंदे पर लटके पाए गए।

नरवाना के धनौरी  में फांसी के फंदे पर लटके मिले परिवार के तीन सदस्य पति, पत्नी और  बेटा शामिल


नरवाना, 22 दिसम्बर (अटल हिन्द /राजीव) : धनौरी गांव में बुधवार को उस समय हड़कंप मच गया जब एक ही परिवार के तीन सदस्य उनके घर में ही  फांसी के फंदे पर लटकते पाए गए। मृतकों में पति, पत्नी तथा बेटा शामिल थे। घटना की सूचना पाकर गढ़ी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और घटना को गंभीरता से लेते हुए फोरेंसिक टीम की सहायता से साक्ष्यों को जुटाया गया। घटना की सूचना मिलने पर एस.पी. जींद नरेंद्र बिजराणिया तथा ए.एस.पी. नरवाना कुलदीप सिंह भी मौके पर पहुंचे और पूरी घटना की जांच की। एक माह में एक ही परिवार के चार सदस्य आत्महत्या  कर चुके हैं। मामले को लगभग सवा माह पहले हुई एक व्यक्ति की हत्या से जोड़ कर देखा जा रहा है। फिलहाल गढ़ी थाना पुलिस मामले की विभिन्न एंगलों से जांच कर रही है। धनौरी गांव निवासी ओमप्रकाश (48), उसकी पत्नी कमलेश (45), उसका बेटा सोनू (20) के शव बुधवार को मकान में फांसी के फंदे पर लटके पाए गए। इससे पूर्व गत 2 दिसम्बर को मृतक ओमप्रकाश के भाई बलराज ने भी आत्महत्या कर ली थी।

उल्लेखनीय है कि 21 नवम्बर धनौरी गांव का रहने वाला नन्हू घर से अचानक लापता हो गया था। 30 नवम्बर को लापता नन्हू का शव हंसडैहर गांव के तीर्थ के पीछे बोरी में बंधा हुआ मिला था और नन्हू के गले में तार भी बंधी हुई मिली थी जिसके बाद गढ़ी थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या व शव को खुर्द-बुर्द करने के आरोप में मामला दर्ज किया था। नन्हू के शव मिलने के 2 दिन बाद धनौरी गांव निवासी बलराज ने आत्महत्या कर ली थी। आरोप है कि मृतक नन्हू के परिजनों ने बलराज व ओमप्रकाश के परिवार पर नन्हू की हत्या करने का शक जाहिर किया। नन्हू का शव मिलने के 2 दिन बाद गत 2 दिसम्बर को बलराज ने आत्महत्या कर ली थी और उसके बाद पुलिस बलराज के पुत्रों व ओमप्रकाश तथा उसके परिवार के सदस्यों से इस मामले को लेकर लगातार पूछताछ कर रही थी। मृतक बलराज के पुत्र नरेश ने बताया कि गत रात्रि मृतक नन्हू के परिवार के सदस्यों ने ओमप्रकाश के घर के सामने पहुंच कर गाली गलौच किया और दरवाजे को भी पीटा।

इस मामले को लेकर तुरंत पुलिस को भी सूचित किया गया। सूचना मिलने पर गढ़ी थाना पुलिस मौके पर भी पहुंची लेकिन आरोप है कि पुलिस ने रात के समय आरोपी लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की और वापिस चली गई लेकिन बुधवार सुबह ओमप्रकाश, उसकी पत्नी कमलेश व सोनू के शव घर में ही फंदे पर लटकते पाए गए। तीनों मृतकों ने आत्महत्या करने से पूर्व एक सुसाइड नोट भी लिखा जिसमें उन्होंने अपने आप को निर्दोष बताया और इंसाफ की मांग की। ए.एस.पी. कुलदीप सिंह ने कहा कि पुलिस पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर रही है और सुसाइड नोट में जो नाम दिए गए हैं और परिजन जो शिकायत देंगे उसके आधार पर आरोपी व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की जाएगी। 

Share this story