शाबाश हरियाणा पोलिस -फरीदाबाद पुलिस ने निर्दोष युवक को  इतना मारा इतना मारा बेचारा मर ही गया
शाबाश हरियाणा पोलिस -फरीदाबाद पुलिस ने निर्दोष युवक को  इतना मारा इतना मारा बेचारा मर ही गया

शाबाश हरियाणा पोलिस -फरीदाबाद पुलिस ने निर्दोष युवक को  इतना मारा इतना मारा बेचारा मर ही गया ,

 

जुबैर खान नूंह

मेवात के जमालगढ़ गांव के एक युवक को फरीदाबाद पुलिस द्वारा शक के बिना पर उठाकर ले जाना और उसे थर्ड डिग्री टॉर्चर कर बुरी तरह मारकर घायल करना व 70 हजार रूपये की रिश्वत लेकर छोड़ना और पिटाई से युवक की मौत होने का मामला प्रकाश में आया है। शनिवार को गांव जमालगढ़ सहित आसपास के गावों के ग्रामीणों ने विधायक मोहम्मद इलियास, रशीद एडवोकेट समाजसेवी व इरशाद पंचायत समिति चेयरमैन ने शनिवार सुबह जमालगढ़ पहुंच शव को सड़क पर रख जाम लगाया। वहां पर पहुंचे पुलिस प्रशासन से विधायक सहित अन्य लोगों ने फरीदाबाद पुलिस द्वारा मारे गए जुनैद नाम के युवक को न्याय दिलाने की मांग की और जिन पुलिसवालों ने जुनैद को मारा है उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग करते हुए इस मामले की जांच एसआईटी से करने की मांग की । लेकिन बात ना बनते हुए देख ग्रामीणों का जमालगढ़ गांव में रोड जाम करने का सब्र का बांध टूट गया और शव को लेकर पुनहाना जमालगढ़ रोड पर पहुंचे।

शाबाश हरियाणा पोलिस -फरीदाबाद पुलिस ने निर्दोष युवक को  इतना मारा इतना मारा बेचारा मर ही गया
मेवात जिले के जमालगढ़ गांव के एक युवक की फरीदाबाद पुलिस पर पिटाई करने का आरोप लग रहा है। पिटाई के दौरान लगी चोटों से युवक जुनैद की मौत हो गई। जैसे ही जुनैद की मौत की खबर जमालगढ़ गांव व आसपास के गांव में लगी तो गुस्साए लोगों ने जमालगढ़ – पुनहाना मार्ग को जाम कर दिया। गुस्साई भीड़ ने जमकर नारेबाजी की। पुलिस के आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और लोगों को समझाने का प्रयास किया।पीड़ित परिवार का आरोप है कि उनके पास क्राइम सेल फरीदाबाद के एसआई राजेश कुमार से बातचीत के भी सबूत हैं। जिसमें वह खुलेआम रिश्वत मांग रहा है। इतना ही नहीं उसने रुपए नहीं देने की सूरत में नाजायज मुकदमों में फंसाने की धमकी भी दी है।ग्रामीणों ने मांग की है कि उपरोक्त मामले में बोर्ड द्वारा मृतक का पोस्टमार्टम कराया जाए, दोषी पुलिस अधिकारियों / कर्मचारियों पर मुकदमा दर्ज किया जाए, नाजायज गिरफ्तार किए गए उसके दो सगे भाई इरशाद, आजाद को तुरंत आजाद किया जाए। साथ ही मामले की निष्पक्ष जांच के लिए एसआईटी का गठन किया जाए। जमालगढ़ गांव के लोग मुकदमा दर्ज कराने तथा पोस्टमार्टम कराने के लिए पुलिस के अधिकारियों से गुहार लगा रहे हैं। समाचार लिखे जाने तक एफ आई आर दर्ज नहीं की गई थी और ना ही मृतक का पोस्टमार्टम कराया गया था, लेकिन भीड़ को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध जमालगढ़ गांव से लेकर पुन्हाना शहर तक किए हुए हैं।

शाबाश हरियाणा पोलिस -फरीदाबाद पुलिस ने निर्दोष युवक को  इतना मारा इतना मारा बेचारा मर ही गया

पुनहाना में शव को सड़क पर रख सैकड़ों लोगों ने जाम लगाकर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन से मृतक जुनैद को न्याय दिलाने की मांग की । इतना ही नहीं लोगों ने पुनहाना थाना प्रभारी व बिछोर थाना प्रभारी से मांग करते हुए कहा कि आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कर इस मामले की जांच के लिए एसआईटी टीम गठित की जाए, ताकि मृतक को न्याय मिल सके । मृतक के परिजनों ने कहा कि लगभग 5 दिन पहले उनके बेटे जुनैद को फरीदाबाद पुलिस ने शक की बिना पर उठाया था और उन्हें मारपीट कर बुरी तरह घायल कर दिया था और उसे छोड़ने की आवाज में उनसे ₹70000 की डिमांड की गई थी। 70000 रूपये पहुंचने के बाद फरीदाबाद पुलिस ने उसके बेटे जुनैद को तो छोड़ दिया। लेकिन उनके दो भाइयों को एक शादी से आते वक्त और उठा लिया। मृतक जुनैद  की माता ने बताया कि उनके बेटे जुनैद को थर्ड डिग्री टॉर्चर कर बुरी तरह मारा गया है । इतना ही नहीं उनके बेटे की पुलिस की पिटाई से मौत हो गई है और अब उनके दो बेटों को भी फरीदाबाद पुलिस ने उठा रखा है और उन पर कार्यवाही ना करने का पुलिस दबाव बना रही है।

मृतक जुनैद के परिजनों ने बताया कि अगर उनका बेटा दोषी था तो पुलिस ने उसे छोड़ा क्यों और अगर वह दोसी ही नहीं था तो पुलिस ने उसे मारा क्यों ? परिजनो ने इस मामले की जल्द से जल्द एसआईटी गठित कर जांच होनी चाहिए और आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही कर मृतक जुनैद को न्याय दिलाया जाए

पूर्व मंत्री व पुनहाना से विधायक मोहम्मद इलियास ने मौके पर पहुंच कि जुनैद को न्याय दिलाने की मांग

पूर्व मंत्री व पुनहाना से मौजूदा विधायक मोहम्मद इलियास ने जमालगढ़ गांव पहुंचकर पुलिस प्रशासन, जिला प्रशासन और हरियाणा सरकार से मांग करते हुए कहा कि फरीदाबाद पुलिस द्वारा लगातार ऐसे मामलों को अंजाम दिया जा रहा है। फरीदाबाद पुलिस लगातार मेवात के निर्दोष युवाओं को उठाकर ले जाती है और उन्हें टॉर्चर कर उनसे छोड़ने की आवाज में काफी पैसा वसूला जा रहा है। पैसा ना देने पर उन्हें झूठे मुकदमों में फंसाने की धमकी दी जाती हैं। उन्होंने कहा कि जुनैद के साथ इसी तरह की फरीदाबाद पुलिस द्वारा वारदात की गई है। जिसे  थर्ड डिग्री टॉर्चर कर मारा गया है। जिससे उसकी हत्या हो गई है। विधायक मोहम्मद इलियास ने कहा कि अगर जुनैद किसी मामले में आरोपी था तो पुलिस ने उसे छोड़ा क्यों और अगर वह आरोपी नहीं था तो पुलिस ने उसे इस तरह टॉर्चर कर क्यों मारा जिससे उसकी हत्या हो गई । पूर्व मंत्री मोहम्मद इलियास ने मांग करते हुए कहा कि आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई कर जुनैद को न्याय दिलाया जाए।

जाम लगाने के दौरान उपद्रवियों ने पुलिस की जिप्सी को किया आग के हवाले
जैसे ही सैकड़ों की संख्या में लोग शव को लेकर पुनहाना मैन रोड पर जाम लगा रहे थे और मृतक जुनैद को न्याय दिलाने की मांग कर रहे थे। तभी उस दौरान कुछ असामाजिक तत्वों ने बीसरू रोड पर पहुंच वहां पर खड़ी पुलिस की जिप्सी को आग के हवाले कर दिया। इतना ही नहीं लोगों ने पुलिस  के जवानों के साथ भी बदतमीजी की ओर हाथतपाई की भी नौबत आ गई। लेकिन पुलिस ने वहां हालात को समझते हुए किनारा करने में ही अपनी भलाई समझी। उसके बाद जैसे ही मेवात पुलिस कप्तान को इसकी खबर लगी तो वहां पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया। इतना ही नहीं पुलिस की जिप्सी को जलता देख फायर ब्रिगेड बुलाई गई। जिसने जिप्सी में लग रही आग को बुझाया। इतना ही नहीं मौके पर पहुंचे पुलिस कप्तान नरेंद्र बिजारणिया ने स्थिति का जायजा लिया और पुनहाना में काफी पुलिस बल तैनात किया गया। खबर लिखे जाने तक पुनहाना में पूरी तरह शांति बनी हुई है और पुलिस की टुकड़ियों पुनहाना में फ्लैग मार्च कर रही हैं।

शव को पोस्टमार्टम कराने के लिए ले जाया गया मांडी खेड़ा
मृतक जुनैद के शव को लेकर विधायक मोहम्मद इलियास मांडी खेड़ा के सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम कराने के लिए पहुंचे। खबर लिखे जाने तक पोस्टमार्टम की प्रक्रिया चल रही थी। विधायक मोहम्मद इलियास ने क्षेत्र के लोगों से शांति बनाए रखने के लिए अपील करते हुए कहा कि लोग किसी प्रकार का हंगामा ना करें और शांति बनाए रखें। मृतक जुनैद को हर हाल में न्याय दिलाया जाएगा।

Share this story